Sun. Oct 17th, 2021

सोमैया ने हसन मुश्रीफ पर लगाया 100 करोड़ के दूसरे घोटाले का आरोप


कराड (सातारा), 20 सितंबर (हि.स.)। महाराष्ट्र भाजपा के उपाध्यक्ष किरीट सोमैया ने सोमवार को राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुश्रीफ के खिलाफ 100 करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया है। पिछले सप्ताह सोमैया ने मुश्रीफ पर 127 करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया था। सोमैया इस घोटाले से जुड़े 2700 पन्नों के कागजात पहले ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को सौंप चुके हैं। सोमैया ने जल्द ही मुश्रीफ के तीसरे घोटाले को उजागर करने का भी दावा किया है।

राकांपा के वरिष्ठ नेता मुश्रीफ के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस करने मुंबई से कोल्हापुर जा रहे सोमैया को बीच रास्ते में कराड़ स्टेशन पर रोक लिया गया। कराड स्टेशन पर उतरने के बाद सोमैया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुश्रीफ के खिलाफ 100 करोड़ रुपये के घोटाले का दूसरा आरोप लगाया। सोमैया ने आरोप लगाया कि गडहिंगलज स्थित अप्पासाहेब नलावडे चीनी मिल में मुश्रीफ ने 100 करोड़ रुपये का घोटाला किया है। इस घोटाले से जुड़े दस्तावेज ईडी और आयकर विभाग को जल्द ही सौपेंगे। बतौर सोमैया वर्ष 2020 में नलावडे चीनी मिल बिना किसी ट्रान्सफर बिलिंग के ब्रिक्स इंडिया कंपनी को सौंपी गई। हसन मुश्रीफ के दामाद मतीन हसन मंगोली इसके मालिक हैं। सोमैया ने बताया कि ब्रिक्स इंडिया कंपनी में एस.यू. कॉर्पोरेशन प्रा.लि. के 7185 शेयर्स हैं, वही मतीन हसन के 998 और गुलाम हुसैन के 998 शेयर हैं। सोमैया ने कहा कि मुश्रीफ ने अपना कालाधान एस.यू. कॉर्पोरेशन के जरिए इस कंपनी में लगाया है।

सोमैया ने पिछले सप्ताह हसन मुश्रीफ के खिलाफ 127 करोड़ के भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। इसके बाद सोमैया ने सोमवार को कोल्हापुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने का फैसला किया। उनके इस फैसले से राज्य सरकार और एनसीपी को तगड़ा झटका पहुंचा। कोल्हापुर के जिलाधिकारी ने सोमैया को नोटिस भेजकर अपना कोल्हापुर दौरा रद्द करने का आग्रह किया था। वहीं, सोमैया को कोल्हापुर जाने से रोकने के लिए मुंबई पुलिस की टीम रविवार दोपहर को ही उनके मुलुंड स्थित आवास पर पहुंच गयी थी। इसकी सूचना मिलते ही भाजपा नेताओं ने आक्रमक रुख अपनाते हुए राज्य सरकार के फैसले को तानाशाही करार दिया। वहीं सोमैया ने ट्रेन से कोल्हापुर जाने का फैसला किया, लेकिन कोल्हापुर पहुंचने से पहले ही उनको कराड स्टेशन पर रोक लिया गया।

सोमैया ने कहा कि उद्धव ठाकरे सरकार डर गई है। बतौर सोमैया कोल्हापुर जिले के तहत आने वाला कागल हसन मुश्रीफ का चुनाव क्षेत्र है। नतीजतन सोमैया कागल जाकर मुश्रीफ के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाना चाहते थे। सोमैया ने बताया कि रविवार को उन्हें छह घंटे तक घर में नजरबंद रखा गया। इसके चलते वे गणेश प्रतिमा का विसर्जन तक नहीं कर पाए। सोमैया ने आरोप लगाया कि उनके साथ सीएसटी स्टेशन पर बदसलूकी हुई। सोमैया ने चेतावनी दी कि वे जल्द ही पुलिस के रवैए के खिलाफ हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। सोमैया ने मुश्रीफ के तीसरे घोटाले को भी उजागर करने का ऐलान किया है।