Wed. Sep 22nd, 2021

बर्थडे स्पेशल 6 सितंबर: कुछ ऐसा था राकेश रोशन का अभिनेता से निर्देशक बनने तक का सफर


बॉलीवुड में अभिनेता से निर्माता-निर्देशक बने राकेश रौशन का जन्म 6 सितंबर, 1949 को मुंबई में हुआ था। उनके पिता रोशन बॉलीवुड के मशहूर म्यूजिक डायरेक्टर थे। राकेश रौशन की प्रारंभिक पढ़ाई सैनिक स्कूल महाराष्ट्र से हुई। फिल्मी परिवार से ताल्लुक रखने वाले राकेश रोशन को बॉलीवुड में ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ा। राकेश रौशन की पत्नी पिंकी भी बॉलीवुड के ही मशहूर निर्देशक जे.ओमप्रकाश की बेटी हैं। उनके दो बच्चे सुनयना रोशन और ऋतिक रौशन है। ऋतिक रौशन की गिनती आज बॉलीवुड के सुपरहिट अभिनेताओं में होती हैं। राकेश रौशन ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत बतौर अभिनेता साल 1970 में आई टी प्रकाश राव निर्देशित फिल्म ‘ घर-घर की कहानी से की थी। इस फिल्म में वह सपोर्टिंग रोल में नजर आएं। इसके बाद उनकी मुख्य भूमिका वाली एक के बाद एक कई फिल्में आई। जिसमें ‘मन मंदिर’, ‘पराया धन’, ‘आंखों-आंखों में’, ‘खेल-खेल में’, ‘खट्टा मीठा’, ‘खूबसूरत’, ‘तीसरी आंख’ और ‘आखिर क्यों’आदि प्रमुख हैं। लेकिन मुख्य भूमिका वाली इतनी ज्यादा फिल्में करने के बाद भी राकेश रौशन को फिल्म अभिनेता के रूप में कोई खास कामयाबी नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने तय किया कि वह फिल्म निर्देशन में अपनी किस्मत आजमाएंगे। राकेश रौशन ने 1980 में खुद की प्रोडक्शन कंपनी का निर्माण किया। इसी साल उन्होंने अपने प्रोडक्शन हाउस में फिल्म ‘आप के दीवाने’ बनाई,जो बुरी तरह फ्लॉप रही। इसके बाद उन्होंने फिल्म कामचोर का निर्माण किया, जो बॉक्स ऑफिस पर सफल रही। इसके बाद साल 1987 में आई फिल्म खुदगर्ज से राकेश रौशन ने फिल्म निर्देशन के क्षेत्र में कदम रखा। बॉक्स ऑफिस पर इस फिल्म का मिला जुला असर रहा। इस फिल्म के अलावा उन्होंने खून भरी मांग,किशन कनैह्या ,खेल, कोयला, करण-अर्जुन जैसी कई फिल्मे बनाईं जो हिट साबित हुईं। इन फिल्मों की बदौलत निर्देशक के रूप में राकेश रौशन को अच्छी पहचान मिलने लगी। राकेश रौशन ने 2000 में फिल्म ‘कहो ना प्यार हैं’ निर्देशित की। इस फिल्म में राकेश रोशन ने अपने बेटे ऋतिक रौशन को लीड रोल में लिया। यह फिल्म ऋतिक की बतौर अभिनेता बॉलीवुड में डेब्यू थीं। इस फिल्म ने कई सारे अवार्ड जीते। साथ ही यह फिल्म उस साल की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म बनीं।जिसके कारण राकेश रौशन पर अंडरवर्ल्ड द्वारा गोलियां भी चलवाई गईं थी। अंडरवर्ड के लोग चाहते थे कि राकेश इस इस फिल्म कि कमाई का हिस्सा उन्हें दे। इस फिल्म के लिए राकेश रौशन को बेस्ट फिल्म और बेस्ट डायरेक्टर का फिल्मफेयर अवार्ड मिला। इसके बाद राकेश रौशन ने साइंस एंड फिक्शन पर आधारित फिल्म’ कोई मिल गया’ 2003 में निर्देशित की। इस फिल्म के लिए उन्हें एक बार फिर बेस्ट फिल्म और बेस्ट डायरेक्टर का फिल्मफेयर अवार्ड मिला। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई। इसके बाद उन्होंने सुपरहीरो पर आधारित फिल्म कृष और कृष 3 निर्देशित की। ये दोनों फिल्में भी बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई और इन फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर कमाई के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। राकेश रौशन अभिनेता के तौर पर बेशक हिट नहीं रहे लेकिन निर्देशक के तौर पर उन्हें दर्शकों का भरपूर साथ और प्यार मिला। राकेश रौशन फिलहाल कृष 4 बनाने की तैयारी में है। दर्शकों को इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार हैं ।