Sat. Sep 18th, 2021

अटल पेंशन योजना से जुड़ने वालों का आंकड़ा 3.30 करोड़ के पार


नई दिल्ली, 01 सितम्बर (हि.स.)। केंद्र सरकार द्वारा संचालित अटल पेंशन योजना (एपीवाई) से जुड़ने वाले ग्राहकों का आंकड़ा 3.30 करोड़ को पार कर गया है। वित्त वर्ष 2021-22 के शुरुआती पांच महीनों के दौरान इस योजना से 28 लाख से ज्यादा लोग जुड़े हैं। वित्त मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी।

वित्त मंत्रालय ने जारी एक बयान में कहा कि 25 अगस्त, 2021 तक एपीवाई के तहत कुल ग्राहकों में से करीब 78 फीसदी ग्राहकों ने एक हजार पेंशन योजना का विकल्प चुना है, जबकि करीब 14 फीसदी ने 5 हजार रुपये के पेंशन का विकल्प चुना है। वहीं, इस योजना से जुड़ने वालों में लगभग 44 फीसदी महिला सदस्य हैं। इसके अलावा एपीवाई से जुड़ने वालों में लगभग 44 फीसदी सदस्य कम उम्र के युवा हैं, जो 18 से 25 वर्ष वर्ग से संबंधित हैं।

पेंशन निधि नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) ने एपीवाई तक लोगों की पहुंच बढ़ाने के लिए मोबाइल ऐप और उमंग प्लेटफॉर्म पर इसकी उपलब्धता को आसान बनाया है। एपीवाई एफएक्यू में सुधार, मौजूदा एवं संभावित सदस्यों और सेवा प्रदाताओं के लाभ के लिए 13 क्षेत्रीय भाषाओं में एपीवाई सब्सक्राइबर इंफॉर्मेशन ब्राउशर तथा एपीवाई सिटीजन चार्टर जारी करने जैसी नई पहल की है।

उल्लेखनीय है कि एपीवाई देश के नागरिकों के लिए असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों पर केंद्रित एक पेंशन योजना है। एपीवाई के तहत 60 साल की उम्र में एक हजार रुपये, 2 हजार रुपये, 3 हजार रुपये, 4 हजार रुपये या 5,000 रुपये प्रति माह की न्यूनतम पेंशन की गारंटी ग्राहकों द्वारा योगदान के आधार पर दिया जाता है। भारत का कोई भी नागरिक एपीवाई योजना में शामिल हो सकता है। केंद्र सरकार ने साल 2015 में इस योजना को लॉन्च किया था। इससे 18-40 वर्ष आयु वर्ग के किसी भी नागरिक को बैंक या डाक घर शाखा के माध्यम से एपीवाई से जुड़ने का मौका मिलता है, 266 पंजीकृत एपीवाई सेवा प्रदाताओं के जरिए वितरित की जाती है।