Sat. Oct 16th, 2021

अरुणाचल प्रदेश ने हवाई संपर्क में हासिल किया एक और मील का पत्थर


इटानगर, 26 सितम्बर (हि.स.)। अरुणाचल प्रदेश के मेचुका, टूटिंग, जीरो और विजयनगर जैसे दूरदराज के शहरों के लिए फिक्स्ड विंग उड़ान सेवाओं की शुरुआत के लिए एलायंस एयर के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। इससे अरुणाचल प्रदेश ने हवाई संपर्क में रविवार को एक और मील का पत्थर हासिल किया है।

अरुणाचल के मुख्यमंत्री पेमा खांडू की वर्चुअल उपस्थिति में आज हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने केंद्र सरकार के अंतर्गत अरुणाचल प्रदेश में संचालन के लिए दो ‘मेड इन इंडिया’ डोर्नियर डीओ -228, एक 16 सीटर विमान को पट्टे पर देने के लिए एलायंस एयर के साथ उड़ान योजना के तहत एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।

मुख्यमंत्री खांडू ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय, एचएएल और एलायंस एयर का आभार व्यक्त करते हुए कहा, “यह अरुणाचल प्रदेश की कनेक्टिविटी में एक बड़ी छलांग है।” उन्होंने आशा व्यक्त की कि आने वाले दिनों में अरुणाचल प्रदेश में सभी व्यवहार्य उन्नत लैंडिंग ग्राउंड (एएलजी) को फिक्स्ड विंग यात्री सेवाओं से जोड़ा जाएगा।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, डीओ-228 सेवाओं को 3 चरणों में पेश किया जाएगा। पहले चरण में पासीघाट और तेजू जबकि, दूसरे चरण में मेचुका, टूटिंग, विजयनगर और जीरो को जोड़ा जाएगा। तीसरे चरण में दिरांग और दापोरिजो में दो और एएलजी को जोड़ा जाएगा।

खांडू ने बताया कि जीरो और टूटिंग में सिविल पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग (पीटीबी) निर्माणाधीन है और यह इस साल के अंत तक पूरा हो जाएगा। मेचुका में पीटीबी भी निर्माणाधीन है। जबकि पासीघाट और तेजू में पहले से ही अनिवार्य बुनियादी ढांचा है।

उन्होंने सुझाव दिया कि होलोंगी हवाई अड्डे का काम पूरा होने तक, डीओ-228 विमानों के लिए परिचालन आधार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है जो तेजू, पासीघाट, जीरो को जोड़ने वाली उड़ान सेवाएं हैं। टूटिंग, मेचुका और विजयनगर को लीलाबाड़ी (उत्तर लखीमपुर) हवाई अड्डे तक बढ़ाया जा सकता है ताकि राज्य की राजधानी में आने वाले इन दूरदराज के स्थानों से यात्री इन उड़ानों का लाभ उठा सकें।

खांडू ने सुझाव दिया कि होलोंगी हवाई अड्डे के पूरा होने तक डोर्नियर विमानों का परिचालन आधार गुवाहाटी या डिब्रूगढ़ में बनाया जा सकता है। उन्होंने आश्वासन दिया कि अगले दो महीनों के भीतर दो डीओ-228 विमानों के लिए परिचालन योजना को अंतिम रूप देने के लिए आवश्यकतानुसार एक कोर ग्रुप का गठन किया जाएगा।

उन्होंने यह भी घोषणा की कि डीओ-228 विमान सेवाओं का आधिकारिक उद्घाटन समारोह शि-योमी जिला के मेचुका में आयोजित किया जाएगा। उद्घाटन में डीओ-228 उड़ान के एमओसीए, एचएएल, एलायंस एयर और अन्य अधिकारियों को आमंत्रित किया गया है।

समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर समारोह में एमओसीए सचिव प्रदीप सिंह खरोला, संयुक्त सचिव उषा पाधी, डोनर सचिव लोक रंजन, एचएएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक आर माधवन, सीईओ एलायंस एयर विनोद सूद उपस्थित थे। जबकि मुख्यमंत्री के साथ उपमुख्यमंत्री चौना मिन, गृह मंत्री बामंग फेलिक्स, लोकसभा सांसद तापीर गाओ, मुख्य सचिव नरेश कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।