Sat. Dec 4th, 2021

अमेरिकी पत्रकार डेनी फेंस्टर म्यांमार की जेल से रिहा, अब जा सकेंगे स्वदेश

Managing editor of online magazine Frontier Myanmar, U.S. journalist Danny Fenster, is pictured in an unknown location in this undated handout picture made available to Reuters on November 12, 2021. Frontier Myanmar/Handout via REUTERS THIS IMAGE HAS BEEN SUPPLIED BY A THIRD PARTY. ?NO RESALES. NO ARCHIVES


नैपीटॉ, 15 नवंबर (हि.स.)। अमेरिकी पत्रकार डेनी फेनस्टर को सोमवार को म्यांमार की जेल से रिहा कर दिया गया है। तीन दिन पहले म्यांमार की सैन्य कोर्ट ने 37 साल के इस युवा अमेरिकी पत्रकार डेनियल डैनी को 11 साल की सजा सुनाई थी। डैनी अब म्यांमार छोड़कर अपने देश जा सकते हैं।

सेना (जुंटा) के प्रवक्ता मेजर जनरल थॉ मिन तुन ने मीडिया को बताया है कि फ्रंटियर मैगजीन के प्रबंध संपादक फेनस्टर को 12 मई में उस समय हिरासत में लिया गया था जब वह वापस अमेरिका जाने वाले थे। फेनस्टर को आव्रजन कानून का उल्लंघन करने, गैरकानूनी जुड़ाव रखने और सेना के खिलाफ असंतोष को प्रोत्साहित करने का दोषी ठहराया गया था। पिछले हफ्ते उन पर देशद्रोह और आतंकवाद के दो अतिरिक्त आरोप लगाए गए, जिनमें अधिकतम आजीवन कारावास की सजा है।

फरवरी, 2021 में जब से म्यांमार में चुनी हुई सरकार का तख्तापलट हुआ तब से और देश में लागू सैन्य शासन काल में किसी विदेशी पत्रकार को मुजरिम करार दिए जाने का यह पहला मामला है। 37 साल के पत्रकार डैनी फेनस्टर म्यांमार से प्रकाशित होने वाली ऑनलाइन मैगजीन फ्रंटियर म्यांमार के दफ्तर में प्रबंध निदेशक पद पर थे। फेनस्टर ने पहले म्यांमार नाउ के लिए काम किया था, जो एक स्वतंत्र समाचार साइट है। डैनी ने जुलाई, 2020 में म्यांमार नाउ से इस्तीफा दे दिया और अगले महीने फ्रंटियर में शामिल हो गए थे। मई, 2021 में अपनी गिरफ्तारी के समय वह फ्रंटियर म्यांमार के साथ लगभग नौ महीने से काम कर रहे थे।