Wed. Sep 22nd, 2021

अफगानिस्तान से लोगों को सुरक्षित निकालने पर अमेरिका ने भारत व दूसरे देशों को किया धन्यवाद


वाशिंगटन, 07 सितंबर (हि.स.)। अफगानिस्तान संकट और तालिबान के कब्जे के बीच लोगों को सुरक्षित निकालने में मदद करने वाले भारत समेत दूसरे देशों को अमेरिका ने धन्यवाद कहकर आभार जताया है।

30 अगस्त की रात तक अफगानिस्तान से अमेरिका सेना की पूरी तरह वापसी हो गई। अमेरिका ने इस संकट के दौरान 6000 अमेरिकी नागरिकों समेत 124,000 से अधिक लोगों को काबुल से निकाला।

अमेरिकी विदेश विभाग ने बताया कि सहयोगियों व साझेदारों की सहायता के साथ दो दर्जन से अधिक देशों वाले ग्लोबल नेटवर्क की सहायता से अफगानिस्तान से लोगों की सुरक्षित निकासी हुई। इसमें बहरीन, डेनमार्क, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, जार्जिया, हंगरी, इटली, कोसोवो, कुवैत, नीदरलैंड्स, नार्वे, पाकिस्तान, कतर, स्पेन, स्वीट्जरलैंड, तुर्की, यूक्रेन और संयुक्त अरब अमीरात के साथ ब्रिटेन शामिल हैं जिन्होंने अमेरिकी और अन्य नागरिकों को अफगानिस्तान में तालिबानी हिंसा की चपेट में आने से पहले सुरक्षित निकासी में मदद की।

अन्य देशों ने अफगानों के पुनर्वास प्रयासों के संबंध में विभिन्न तरीकों से मदद करने के लिए पेशकश की। इन देशों में अल्बानिया, बहरीन, कनाडा, कोलंबिया, कोस्टा रिका, चिली, इक्वाडोर, गुयाना, भारत, कुवैत, मैक्सिको, नीदरलैंड, उत्तरी मैसेडोनिया, पोलैंड, पुर्तगाल, कतर, रवांडा, सिंगापुर, युगांडा और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं।