Sat. Jul 31st, 2021

अमेरिका ने चीन में उइगर मुलसमानों पर अत्याचार के विरोध में शिनजियांग में बने सभी चीनी उत्पादों पर लगाया प्रतिबंध

FILE PHOTO: U.S. President Joe Biden speaks about his $2 trillion infrastructure plan during an event to tout the plan at Carpenters Pittsburgh Training Center in Pittsburgh, Pennsylvania, U.S., March 31, 2021. REUTERS/Jonathan Ernst


वॉशिंगटन, 16 जुलाई (हि.स.)। अमेरिका ने चीन में उइगर मुसलमानों पर हो रहे अत्याचार और मानवाधिकारों के विरोध में शिनजियांग प्रांत में बने सभी उत्पादों को प्रतिबंधित कर दिया है।

अमेरिकी सीनेट ने बुधवार को एक बिल पारित करके चीन के शिनजियांग प्रांत में बने सभी उत्पादों पर बैन लगा दिया। एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका ने बंधुआ मजदूरी और उइगर मुसलमानों सहित अन्य अल्पसंख्यकों के नरसंहार की वजह से चीन को यह आर्थिक झटका दिया है।

फ्लोरिडा के सीनेटर मारको रूबियो ने ओरेगन के सीनेटर जेफ मेर्कली के साथ यह बिल पेश किया। बिल पारित होने के बाद उन्होंने कहा कि यह बीजिंग और किसी भी अंतरराष्ट्रीय कंपनी को संदेश है जो शिनजियांग में बंधुआ मजदूरी से लाभ कमाते हैं, अब यह सब और नहीं चलेगा। उन्होंने यह भी कहा कि मानवता के खिलाफ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के अपराध को लेकर अमेरिका आंखें नहीं मूंदेगा।

मेर्कली ने कहा कि उइगर और दूसरे मुस्लिम समूहों पर अमानवीय हालात में शिनजियांग में जबरन मजदूरी कराई जा रही है, अत्याचार किया जा रहा है, जेलों में डाला जा रहा है, जबरन नसबंदी कराई जा रही है और धार्मिक-सांस्कृतिक जीवन को छोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसी अमेरिकी निकाय को इन अपराधों से लाभ नहीं कमाना चाहिए और ना ही किसी अमेरिकी उपभोक्ता को इन्हें खरीदना चाहिए।

शिनजियांग के उत्पादों की वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में अहम हिस्सेदारी है। बाइडेन प्रशासन ने हाल के दिनों में चीनी सरकार के खिलाफ प्रतिबंधों में इजाफा किया है और कई कंपनियों को काली सूची में डाला है, जिनपर चीनी सेना से संबंध और नरसंहार में शामिल होने का आरोप है।