Sat. Jul 31st, 2021

आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अफगानिस्तान ने भारत, रूस और चीन से मांगी मदद

On patrol in North East Bamyian with Kiwi Team One, performing both mounted and dismounted patrols The NZ PRT Bamyan is tasked with maintaining security in Bamyan Province. It does this by conducting frequent presence patrols throughout the province. The PRT also supports the provincial and local government by providing advice and assistance to the Provincial Governor, the Afghan National Police and district sub-governors. Thirdly the NZ PRT identifies, prepares and provides project management for NZAID projects within the region. These are contracted to Afghan companies who hire local workers to assist with the completion of these projects. Thus each project provides new amenities, and also provides employment in the region.


काबुल, 10 जुलाई (हि.स.)। अफगानिस्तान से अमेरिका और नाटो देशों के सैनिकों की वापसी की शुरुआत के बाद से ही आतंकवादी संगठन तालिबान ने अपनी आक्रामकता और बढ़ा दी है। इस बीच अफगानिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत, रूस और चीन से मदद मांगी है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हमदुल्लाह मोहिब ने कहा कि एक दूसरे के सहयोग से ही शांति और स्थिरता पाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि वह विदेशी शक्तियों से आग्रह करते हैं कि वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अफगानिस्तान को सहयोग करें। मोहिब ने कहा कि वह भारत, रूस और चीन से आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में मदद की मांग कर रह हैं।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने घोषणा की थी कि वह 31 अगस्त तक अफगानिस्तान से अपने सारे सैनिक हटा लेंगे। उन्होंने कहा था कि तालिबान की सेना बेहतर और प्रशिक्षित होने के साथ तालिबान से लड़ने में सक्षम है। उनके पास बहुत ही मजबूत बल है।