Mon. Aug 2nd, 2021

धार्मिक परंपरा और संस्कृति की रक्षा के लिए असम में बनेगा नया विभाग


गुवाहाटी, 11 जुलाई (हि.स.)। राज्य में फिर से भाजपा सरकार के गठन के दो माह पूरे होने के अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत बिस्व सरमा ने कई महत्वपूर्ण निर्णयों की घोषणा की है। इन निर्णयों में प्रमुख रूप से स्थानीय धार्मिक परंपरा और संस्कृति की रक्षा के लिए नया विभाग का गठन शामिल है।

मुख्यमंत्री डॉ. सरमा ने बताया कि नये विभाग के गठन की मंजूरी कैबिनेट ने दे दी है। स्थानीय धार्मिक परंपरा और संस्कृति विभाग के नाम पर ही नये विभाग का नामकरण किया जाएगा।

मुख्यमंत्री सरमा ने ‘लव जिहाद’ पर मीडिया द्वारा पूछे गए एक विशेष सवाल पर कहा कि लव जिहाद की बात नहीं है। हिंदू भी हिंदुओं को धोखा नहीं दे पाएंगे। ऐसा नहीं है कि मुसलमान हिंदुओं को धोखा देंगे तो लव जिहाद होगा। अगर हिंदू युवक शादी में हिंदू लड़कियों को धोखा दे तो वह भी ‘जिहाद’ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें जिहाद शब्द पर विश्वास नहीं है। मुख्यमंत्री सरमा का मानना है कि धोखाधड़ी कभी नहीं होनी चाहिए। चाहे हिंदू हो या मुसलमान, किसी को शादी के लिए कभी धोखा नहीं देना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने वित्त विभाग में भी कई महत्वपूर्ण निर्णयों की जानकारी दी। प्रत्येक शुक्रवार को स्टैंडिंग कमेटी की बैठक होगी। साथ ही अनुकंपा नियुक्तियों को आगामी 15 अगस्त तक पूरा करने की बातें कही गईं। एक लाख नौकरियों के रोजगार के लिए भी विशेष कदम उठाए गए हैं। विभाग सरकार के रिक्त पदों को भरने का निर्णय ले सकेगा। रिक्तियों को भरने में विभागीय आयुक्त द्वारा निर्णय लिया जा सकता है। वित्त विभाग की इस संबंध में अनुमोदन की जरूरत नहीं है।