Fri. Jul 30th, 2021

9 यूरोपीय देश शामिल साइप्रस में ग्रीन समूह में ,बिना रोक-टोक के यात्रा कर सकेंगे


निकोसिया, 23 जून (हि.स.)कोरोना महामारी के बीच साइप्रस ने अपने देश में आने के लिए ग्रीन देशों के बाद 9 यूरोपीय देशों के लोगों के लिए खोल दिया है। उन देशों के लोगों को कम जोखिम का मानते हुए ऐसा कदम साइप्रस रिपब्लिक की सरकार ने उठाया है।

मंत्रालय से जारी किए गए एक बयान के मुताबिक, ऑस्ट्रिया, बुल्गारिया, चेक रिपब्लिक, हंगरी, जर्मनी, इटली, फिनलैंड, स्लोवाकिया और नॉर्वे सरीखे देशों को मध्यम जोखिम वाले ऑरेंज ग्रुप से कम जोखिम वाले ग्रीन ग्रुप में शामिल किया गया है।

साइप्रस रिपब्लिक के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कुछ दिनों पहले माल्टा, पोलैंड, रोमानिया, आइसलैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, सऊदी अरब, दक्षिण कोरिया और इज़राइल को ग्रीन ग्रुप में शामिल किया था। अब इन सब के साथ गुरुवार से यूरोप के 9 देश भी इस ग्रुप का हिस्सा होंगे। इन देशों से आने वाले यात्रियों को अब कोविड निगेटिव रिपोर्ट और क्वारंटीन होने की जरूरत नहीं होगी।

वहीं, बेल्जियम, डेनमार्क, एस्टोनिया, फ्रांस, ग्रीस, क्रोएशिया, लातविया , लिथुआनिया, स्लोवेनिया और स्वीडन को देश के हाई रिस्क वाले रेड ग्रुप से ऑरेंज ग्रुप में शामिल कर दिया गया है। यहां वो पुर्तगाल, आयरलैंड और लक्ज़मबर्ग में शामिल हो गए। ऑरेंज ग्रुप के अन्य देशों में चीन, यूके, यूएस और जापान शामिल हैं। इस श्रेणी के यात्रियों को अपने ट्रैवल टाइम से कम से कम 72 घंटे पहले की कोरोना निगेटिव पीसीआर रिपोर्ट दिखाना जरूरी है।

विश्व के कुछ देश ऐसे भी हैं, जो अभी तक साइप्रस की रेड लिस्ट में हैं। इनमें स्पेन, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड, लिकटेंस्टीन, मोनाको और सैन मैरिनो सरीखे देश उच्च जोखिम वाली लाल श्रेणी में हैं। इस श्रेणी के यात्रियों को भी अपने ट्रैवल टाइम से कम से कम 72 घंटे पहले की कोरोना निगेटिव पीसीआर रिपोर्ट दिखाना जरूरी है।