Wed. Sep 22nd, 2021

9/11 हमला : अपहृत यूए फ्लाइट-93 के निशाने पर थीं अमेरिका की अन्य महत्वपूर्ण इमारतें


 यूए फ्लाइट 93 में सवार 44 लोगों ने पेश की बहादुरी की अद्भुत मिसाल



वाशिंगटन, 11 सितंबर (हि.स)। नौ सितंबर, 2001 का वह दृश्य पूरी दुनिया के लिए एक बुरे सपने की तरह है, जिसे चाहकर भी कोई भुला नही सकता। इस दिन तीन यात्री विमानों को हथियार बनाकर आतंकियों ने अमेरिका का गुरूर कहे जाने वाले न्यूयॉर्क के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर और पेंटागन बिल्डिंग पर हमला बोला, जिसमें करीब 3000 लोग मारे गए। आतंकियों ने दो विमानों से वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के ट्विन टावर को निशाना बनाया जबकि एक विमान अमेरिका के रक्षा मंत्रालय यानी पेंटागन की बिल्डिंग पर जा टकराया। बहुत कम लोग जानते हैं कि उस दिन आतंकियों ने तीन नहीं, चार विमानों का अपहरण किया था लेकिन उसे वे अपने अंजाम तक नहीं पहुंचा पाए।

आतंकियों ने उस दिन चौथा विमान भी अपहृत किया था, जिसे लोग यूनाइटेड एयरलाइंस फ्लाइट-93 के नाम से जानते थे। इस विमान ने सुबह 8.42 बजे न्यू जर्सी के न्यूयॉर्क से सैन फ्रांसिस्को के लिए उड़ान भरी थी। इस प्लेन में 37 यात्री और 7 क्रू मैंबर्स सवार थे, जिनमें अलकायदा के चार आतंकवादी भी शामिल थे। इन आतंकवादियों का लीडर था, जियाद समीर जर्राह। फ्लाइट-93 के पायलट की हत्या कर विमान को जर्राह ने उड़ाना शुरू कर दिया। इस विमान से आतंकी व्हाइट हाउस, अमेरिकी संसद कैपिटल हिल्स या फिर अन्य कई महत्वपूर्ण इमारतों को निशाना बनाने चाहते थे लेकिन विमान में मौजूद यात्रियों की सूझबूझ और बहादुरी के चलते यह विमान अपने अंजाम तक पहुंच ही नहीं पाया।

दरअसल, विमान में सवार कुछ यात्रियों को फोन पर ट्विन टावर पर हमले की खबर पता चल चुकी थी। उसके बाद वे समझ गए कि उनका विमान भी किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए ही अपहृत किया गया है। धीरे-धीरे विमान में सवार सभी यात्रियों को इस घटना की जानकारी दे दी गई। उसके बाद सभी ने एक साथ चारों आतंकवादियों पर हमला बोल दिया। इस भिड़ंत की वजह से आतंकियों के हाथ से विमान का नियंत्रण छूट गया और विमान हवा में पलट गया और अब 500 मील प्रति घंटे की रफ्तार से जमीन की तरफ गिरने लगा। आखिर में सुबह 10.10 बजे यह विमान पश्चिमी पेन्सिलवेनिया के शैंक्सविल इलाके के एक खेत में जा गिरा। विमान में मौजूद सभी 44 लोगों की मौत हो गई।

हालांकि, यह आज तक पता नहीं चल सका कि यूनाइटेड फ्लाइट-93 को हथियार बनाकर आतंकी कहां हमला करना चाह रहे थे। बाद में खूफिया एजेंसियों का पता चला कि व्हाइट हाउस, द यूएस कैपिटल, मैरिलैंड स्थित द कैंप डेविड प्रेसिडेंशियल रिट्रीट और देशभर में मौजूद कई न्यूक्लियर पावर प्लांट आतंकियों के संभावित निशानों पर हो सकते थे।

पेन्सिलवेनिया के शैंक्सविल इलाके में जिस जगह पर यह विमान गिरा, उस जगह पर विमान सवार सभी लोगों की याद में एक मेमोरियल बनाया गया है, जहां हर साल 9 सितंबर को बड़ी संख्या में लोग श्रद्धाजंलि अर्पित करने पहुंचते हैं ।