Fri. Jul 30th, 2021

गंजबासौदा हादसाः एक बच्चे की जान बचाने में गई 11 की जान


बच्चे समेत सभी 11 लोगों के शव बरामद, रेस्क्यू समाप्त



विदिशा/भोपाल, 16 जुलाई (हि.स.)। विदिशा जिले के गंजबासौदा थाना क्षेत्र के लाल पठार गांव में एक 10 साल के बच्चे की जान बचाने के चक्कर में 11 लोगों की जान चली गई। गंजबासौदा कुआं हादसे में 24 घंटे से अधिक चले राहत एवं बचाव कार्य में बचाव दल ने सभी 11 शव बरामद कर लिए हैं। एडीजीपी साईं मनोहर ने कुएं से 11 शव निकाले जाने की पुष्टि की है। इसके साथ ही घटनास्थल पर रेस्क्यू आपरेशन समाप्त कर दिया गया है।

एडीजीपी के मुताबिक, गुरुवार देर शाम रवि अहिरवार नामक 10 वर्षीय बालक पानी भरने के दौरान कुएं में गिर गया था। जानकारी मिलने के बाद उसे बचाने के लिए कुएं पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। वजन बढ़ने से कुएं का एक हिस्सा मुंडेर समेत धंसक गया। इसके साथ ही 30 ग्रामीण मलबे समेत कुएं में गिर गए। सूचना मिलते ही जिला प्रशासन, पुलिस एवं बचाव दल मौके पर पहुंचे और रेस्क्यू शुरू किया। यह रेस्क्यू शुक्रवार देर रात तक जारी रहा। इस दौरान कुएं से 11 लोगों के शव बरामद हुए हैं।

कलेक्टर डा. पंकज जैन ने बताया कि राहत एवं बचाव कार्य के दौरान शुरुआत में ही 20 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया था, जबकि शुक्रवार रात करीब 10.30 बजे तक चले रेस्क्यू में 11 लोगों के शव बरामद हुए हैं। इनमें दो शव गुरुवार रात 2 बजे, तीसरा शव रात 3:30 बजे, चौथा शव शुक्रवार सुबह 6 बजे, पांचवां शव दोपहर 3:30 बजे, छठवां शव शाम 7 बजे, आठवां व नौवां शव शाम 7:30 बजे और 10वां शव रात 10 बजे और आखिरी 11वां शव रात करीब 10.30 बजे कुएं से निकाला गया।

मृतकों में संदीप (18) पुत्र अखिलेश खंगार, शुभम (18) पुत्र सुनील बाल्मीकि, सुनील (40) पुत्र सुभान बाल्मीकि, विक्की नाथ (25) पुत्र शिव नाथ, दीनू (26) पुत्र धन सिंह परिहार, नरेश (35) पुत्र रतिराम नाथ, गोविन्द (32) पुत्र करण सिंह कुशवाह, 40 वर्षीय नारायण कुशवाह, पवन (18) पुत्र बालकिशन लोधी और 15 वर्षीय कृष्ण गोपाल (बिट्टू) के अलावा आखिरी शव उस 10 वर्षीय बालक रवि पुत्र उमकार अहिरवार का है, जो पानी भरते समय कुएं में जा गिरा था और उसके कुएं में गिरने की खबर के बाद ग्रामीण घटनास्थल पर एकत्रित हुए थे।

इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए कहा है कि गंजबासौदा का 24 घंटे का रेस्क्यू ऑपरेशन समाप्त हो गया है। कुएं के मलबे से 11 पार्थिव शरीर निकाले गये हैं। यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। दु:ख की इस घड़ी में हम शोकाकुल परिवार के साथ हैं। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामवासी, विश्वास सारंग जी, गोविंद सिंह राजपूत जी, आईजी, कमिश्नर, कलेक्टर, एसपी व पूरी NDRF, SDRF, प्रशासकीय टीम ने अथक परिश्रम किया। हम सब पीड़ित परिवारों के साथ हैं और उनकी हरसंभव सहायता की जायेगी। मैंने मौके पर टीम से वीडियो कॉल से बात की और ऑपरेशन का जायजा लिया। अब 24 घंटे के बाद ऑपरेशन समाप्त किया है, लेकिन बैरिकेड लगाकर कोई क्लेम हो, तो और दो दिन हम देखेंगे।