Fri. May 27th, 2022

109 करोड़ की लागत से बने वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से 90 गांवों को पानी


नवादा, 28 अप्रैल(हि. स.) पानी की किल्लत को दूर करने को लेकर विश्व बैंक और राज्य सरकार ने नवादा जिले के रजौली प्रखंड के 10 पंचायत के 90 गांव में शुद्ध पेयजल पहुंचाने का काम जिंदल कंपनी के द्वारा किया जा रहा है। प्रचंड गर्मी होने के कारण फुलवरिया डैम के जलस्तर को देखते हुए सुबह और शाम 10 पंचायत के 90 गांव में पानी का सप्लाई किया जा रहा है। ताकि इस प्रचंड गर्मी में लोगों को पीने के पानी के लिए दो-चार नहीं होना पड़े ।इसको लेकर जिंदल कंपनी के टेक्निकल टीम वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से लेकर वाटर सप्लाई के लिए बिछाए गए सभी पाइपलाइन को प्रतिदिन चेक करते हैं।

109 करोड़ रुपए की लागत से बना है वाटर ट्रीटमेंट प्लांट

विश्व बैंक और बिहार सरकार के सहयोग से प्रखंड के हरदिया में 109 करोड़ रुपए की लागत से वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कराया गया। जिसका उद्घाटन 18 दिसंबर 2019 को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया। उसके बाद प्रखंड के 10 पंचायत के 90 गांव के 8 हजार 750 घरों में शुद्ध पानी मिलना शुरू हो गया। जिससे लोगों को काफी राहत मिला है। प्रखंड के कई ऐसे गांव थे जहां फ्लोराइड की मात्रा अधिक थी। जिससे पानी पीने के बाद लोगों को कई तरह की गंभीर बीमारियों से जूझना पड़ता था।

120 लाख लीटर पानी स्टोरेज की है क्षमता

हरदिया स्थित वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में 120 लाख लीटर पानी स्टोरेज करने की क्षमता है । फुलवरिया डैम से पानी को निकालकर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में लाया जाता है, जहां पानी का शुद्धिकरण कर उसे पीने योग्य बनाकर लोगों के घर तक पहुंचाया जा रहा है। बरसात और ठंड के मौसम में फुलवरिया डैम का जलस्तर को देखते हुए दिन में दो-तीन बार पानी सप्लाई किया जाता है लेकिन गर्मी के मौसम में जल स्तर को ध्यान में रखते हुए दिन में शाम सुबह पानी का सप्लाई किया जा रहा है।

10 पंचायत के 90 गांव में पानी पहुंचाने के लिए बनाया गया है 6 जोन

प्रखंड के 10 पंचायत के 90 गांव में पानी पहुंचाने के लिए जिंदल कंपनी ने 6 जोन बनाया है। जिससे आसानी से लोगों के घरों तक बेहतर परिसर में पानी पहुंचाया जा रहा है। सभी जोन में बड़ा सा एक वाटर स्टोरेज टंकी बनाया गया है, जहां एक स्टाफ की प्रतिनियुक्ति की गई है और उसी जगह से उस वाटर टैंक के क्षेत्र में पड़ने वाले गांव में पानी सप्लाई किया जाता है।

कुछ गांव में पानी पहुंचने में हो रही है समस्या

प्रखंड के नावाडीह गांव के सुजीत कुमार,धीरज कुमार और सतीश कुमार ने बताया कि पीएचडी के द्वारा पाइप बिछाया गया था और घरों तक नल का जल पहुंचाने के लिए कनेक्शन भी की गई थी लेकिन आज तक हम लोगों को नियमित रूप से पानी का सप्लाई नहीं हो सका है। पानी किस समय हम लोगों को मिलेगा नहीं मिलेगा इस बारे में हम लोग कुछ स्पष्ट रूप से नहीं बता सकते हैं। क्योंकि कभी आता है और कभी जाता है।

क्या कहते हैं अधिकारी

जिंदल कंपनी के साइड इंचार्ज प्रमोद कुमार से जब इस संबंध में जानकारी ली गई तो उन्होंने कहा कि हम लोग नियमित रूप से प्रखंड के 10 पंचायत के 90 गांव का 8 हजार 750 घर और 441 आंगनबाड़ी केंद्र, मंदिर और स्कूल में नियमित रूप से पानी का सप्लाई कर रहे हैं। कुछ कुछ जगह पर पानी सप्लाई में समस्या इसलिए आ रही है कि फोरलेन निर्माण का कार्य चल रहा है।इस वजह से बहुत सारे जगह पर पाइप कनेक्शन टूटा हुआ है।इसी कारण से पानी के सप्लाई में समस्या हो रही है। जिन जिन जगह पर पानी सप्लाई में दिक्कत आ रही है। उस पर हम लोग बात कर रहे हैं।जल्द से जल्द उन सभी जगह पर भी नियमित रूप से पानी की सप्लाई शुरू कर दी जाएगी।