Tue. Sep 21st, 2021

09 सितंबर: इतिहास के पन्नों में


श्वेत क्रांति के जनकः श्वेत क्रांति के जनक और सुप्रसिद्ध उद्योगपति डॉ. वर्गीज कुरियन का 9 सितंबर 2012 को 90 साल की उम्र में गुजरात के नाडयाड में निधन हो गया। केरल के काजीकोड में 26 नवंबर 1921 में पैदा हुए वर्गीज को भारत के ‘ऑपरेशन फ्लड’ की वजह से जाना जाता है।

1970 में शुरू हुआ ‘ऑपरेशन फ्लड’ दुनिया का सबसे बड़ा डेयरी डवलपमेंट प्रोग्राम था जिससे भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश बना। डॉ. कुरियन ने ‘ऑपरेशन फ्लड’ की अगुवाई की। इसने डेयरी उद्योग से जुड़े किसानों के हाथों में उनके संसाधनों का नियंत्रण देकर विकास की नयी गाथा लिख दी।

उन्होंने अमूल की स्थापना की। 1949 में गुजरात में दो गांवों को सदस्य बनाकर डेयरी सहकारिता संघ की स्थापना करने वाले कुरियन दुनिया के पहले व्यक्ति थे जिन्होंने भैंस के दूध से पाउडर का निर्माण किया। इससे पहले गाय के दूध से बने पाउडर का निर्माण होता था। आगे चलकर यह बदलाव का ‘आनंद मॉडल’ कहलाया।

डॉ. कुरियन की उपलब्धियों को देखते हुए तत्कालीन प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री ने उन्हें 1965 में राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड का संस्थापक अध्यक्ष बनाया। विश्व में सहकारी आंदोलन के अहम हस्ताक्षर डॉ. कुरियन ने भारत के साथ-साथ अन्य देशों के लाखों लोगों की जिंदगी बदल दी। उन्हें पद्म विभूषण, विश्व खाद्य पुरस्कार और सामुदायिक नेतृत्व के लिए मैग्सैसे पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।

अन्य अहम घटनाएंः

1850ः आधुनिक हिंदी साहित्य के प्रवर्तक, प्रसिद्ध कवि व नाटककार भारतेंदु हरिश्चंद्र का वाराणसी में जन्म।

1867ः यूरोपीय देश लग्जमबर्ग को स्वतंत्रता मिली।

1915ः प्रसिद्ध क्रांतिकारी यतींद्रनाथ सान्याल और अंग्रेजों के बीच उड़ीसा के काप्टेवाड़ा में संघर्ष।

1920ः मुस्लिम एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज का नाम बदलकर अलीगढ़ मुस्लिम विवि किया गया।

1945ः पहले कंप्यूटर बग की खोज।

1948ः कोरिया गणराज्य की स्थापना।

1949ः भारत की संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा के रूप में अपनाया गया।