Mon. Jul 6th, 2020

होशंगाबाद में वीएचपी नेता की गोली मारकर हत्या, पहले ही जताई थी आशंका


होशंगाबाद, 27 जून (हि.स.)। होशंगाबाद जिले के पिपरिया में शुक्रवार रात अज्ञात बदमाशों ने वीएचपी नेता की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के वक्त उनके साथ दो अन्य लोग भी मौजूद थे, जो बुरी तरह से घायल है। मामले की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानकारी अनुसार वीएचपी और गौ रक्षणि सेना से जुड़े नेता रवि विश्वकर्मा (39 वर्ष) शुक्रवार रात को अपनी कार से स्टेशन रोड थाना के अंडर ब्रिज से गुजर रहे थे। उनके साथ कार में उनके साथी बजरंग दल के प्रांत सह संगठन मंत्री राजकुमार सिंह और सुरेश पटेल भी बैठे थे। अंडर ब्रिज के पास पहले से घात लगाकर बैठे करीब सात से आठ बदमाशों ने पहले उनकी कार को रोका और फिर लाठी- रॉड से ताबड़तोड़ हमला करना शुरू कर दिया। इसके बाद अज्ञात हमलावरों ने रवि विश्वकर्मा को कार से बाहर निकालकर उनके सिर में दो गोली मार दी जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। बदमाशों ने उनके साथियों के साथ भी बुरी तरह से मारपीट कर उन्हें घायल कर दिया और मौके से फरार हो गए। मृतक रवि विश्वकर्मा के भाई अमित विश्वकर्मा ने बताया कि वह बाइक से कार के पीछे आ रहे थे। हमलावरों ने उन्हें रोक कर जान से मारने की धमकी दी है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से कार व तीन कारतूस बरामद किए हैं।

पहले ही जताई थी हत्या की आशंका
मृतक नेता रवि विश्वकर्मा ने अपनी हत्या होने की आशंका पहले ही जता चुके थे। उन्होंने शुक्रवार दोपहर को ही होशंगाबाद एएसपी एपी सिंह को इस बारे में ज्ञापन सौंपा था। जिसमें उन्होंने उल्लेख किया था कि उनके मित्र राकेश रघुवंशी को झूठा फंसाया गया है और रसूखदार अपराधी उनकी हत्या कर सकते हैं। फिलहाल पुलिस ने मृतक रवि विश्वकर्मा के भाई अमित व साथी राजकुमार सिंह तथा सुरेश पटेल के बयान के आधार पर हमलावरों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली है। वारदात के सबूत जुटाने के लिए पुलिस घटना स्थल के पास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। एसडीओपी शिवेंदु जोशी ने बताया कि हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। घटना स्थल स्टेशन थाना क्षेत्र का है। थाना प्रभारी सतीश अंधवान, मंगलवारा थाना प्रभारी प्रवीण कुमरे भी मौके पर पहुंच गए थे।