Wed. Feb 21st, 2024

हिन्दू समाज एकजुट होकर भाजपा का समर्थन करे : स्वामी यतीन्द्रानन्द


देशभर में हो रही योगी के साम्राज्य की चर्चा
लखनऊ, 19 फरवरी (हि.स.)। श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर एवं अनंत श्री विभूषित जीवनदीप पीठाधीश्वर स्वामी यतीन्द्रानन्द गिरी महाराज ने कहा कि हिन्दू समाज को एकजुट होकर राष्ट्रहित में भारतीय जनता पार्टी का समर्थन करना समय की मांग है। राष्ट्रवाद,धर्म,संस्कृति व परम्परा की बात भाजप ही करती है।
उन्होंने कहा कि आज योगी आदित्यनाथ के साम्राज्य की चर्चा देशभर में हो रही है। योगी माॅडल को अन्य प्रदेशों में अपनाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के कानून-व्यवस्था का मॉडल दूसरे राज्यों में अनुकरण किया जा रहा है। वह शनिवार को विकास नगर स्थित जीवनदीप आश्रम में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।
स्वामी यतीन्द्रानन्द गिरि ने कहा कि संतों ने राज्य सत्ता को नियंत्रित करने का काम किया है। सनातन हिन्दू धर्म जाति व्यवस्था से ऊपर उठकर खड़ा रहेगा तो विश्व में शांति रहेगी। विश्व के अंदर जिहाद फैलाने वाले सारे संगठन नशे का कारोबार कर रहे हैं।
महामण्डलेश्वर स्वामी यतीनन्द्रानन्द ने कहा कि संत समाज का कल्याण भाजपा की सरकार में ही संभव है। संत की बातों को समाज न सिर्फ गंभीरतापूर्वक सुनता है बल्कि उस पर मनन भी करता है। अयोध्या,मथुरा,काशी व अन्य धार्मिक स्थलों का कायाकल्प करने का काम योगी सरकार ने किया इसलिए संत समाज ने योगी आदित्यनाथ और उनकी पार्टी के खुले समर्थन का निर्णय लिया है।
वरिष्ठ महामंडलेश्वर स्वामी यतीन्द्रानंद गिरी ने कहा कि आगामी दस वर्ष भारत और सनातन हिंदू धर्म के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। हिंदू समाज एकजुट होकर बढ़ेगा तो इस्लामिक जिहाद और आतंकवाद का खेल खत्म हो जाएगा।
योगी सरकार में ब्राह्मणों की हुई उपेक्षा
महामण्डलेश्वर स्वामी यतीन्द्रानन्द सरस्वती ने कहा कि योगी सरकार में सर्वाधिक उपेक्षा का शिकार ब्राह्मण समाज है। अल्पसंख्यक,दलित,पिछड़े अति पिछड़ों की बात होती है लेकिन देश व धर्म की रक्षा करने वाले ब्राह्मणों की चिंता कोई नहीं करता। ब्राह्मणों ने जिसको समर्थन दिया, प्रदेश में उसकी ही सरकार बनी है।
उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों को कुछ नहीं, केवल मान व सम्मान चाहिए। धर्म परम्परा व संस्कृति का संरक्षण ब्राह्मणों ने किया है। ब्राह्मण समाज ने सारे समाज के पालन पोषण का काम किया है। ब्राह्मण देश हित के बारे में सोचता है। देश में लगभग 20 प्रतिशत होने के बाद भी ब्राहम्णों की कोई राजनैतिक पार्टी नहीं है। तुष्टीकरण के आधार पर जाति के आधार पर राजनैतिक पार्टियां बनने लगी हैं। इस अवसर पर भाजपा अवध क्षेत्र के उपाध्यक्ष राजीव मिश्रा भी उपस्थित रहे।