Sun. Jun 26th, 2022

स्मृति ईरानी ने केजरीवाल के पूछा सवाल, क्या वो देश के गद्दार को दे रहे हैं पनाह


नई दिल्ली, 01 जून (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन के खिलाफ मनी लांडरिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर कई सवाल दागे हैं। वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बुधवार को केजरीवाल पर सवालों की बौछार करते हुए पूछा कि क्या वे देश के गद्दार को पनाह दे रहे हैं।

यहां भाजपा मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने केजरीवाल से सवाल करते हुए पूछा कि क्या वे देश के गद्दार को पनाह दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने ही कहा था कि भ्रष्टाचार करना देश के साथ गद्दारी करने जैसा है। ऐसे में केजरीवाल सत्येन्द्र जैन जैसे भ्रष्टाचारी को बचाकर क्या देश के गद्दार को शरण देने का काम नही कर रहे।

ईरानी ने कहा कि केजरीवाल ने बीते कल प्रेस कांफ्रेंस कर सत्येन्द्र जैन जैसे भ्रष्ट व्यक्ति को जनता के सामने क्लीन चिट देने की कोशिश की। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अपने मंत्री का बचाव करते हुए कहा कि सत्येन्द्र जैन के खिलाफ जो आरोप हैं वो सभी तथ्यों से कोसों दूर हैं। ईरानी ने सवाल किया कि आखिर केजरीवाल जज क्यों बन गए और जनता की अदालत में जैन को बरी क्यों कर रहे हैं?

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वे केजरीवाल से सवाल करने के लिए विवश हैं और उनका पहला प्रश्न है कि क्या वो साफ कर सकते हैं कि सतेंद्र जैन ने 4 शैल कंपनियों को अपने परिवार के सदस्यों के माध्यम से 16.39 करोड़ रुपये की, 56 शैल कंपनियों के माध्यम से, हवाला ऑपरेटर्स के सहयोग से, 2010-16 तक मनी लॉन्ड्रिंग की या नहीं। ईरानी ने आगे पूछा कि केजरीवाल बताएं कि क्या ये सत्य है कि प्रिंसिपल कमिश्नर ऑफ इनकम टैक्स ने इस बात को कहा कि 16.39 करोड़ के कालेधन के सही मालिक स्वयं सतेन्द्र जैन हैं? क्या ये सत्य है कि डिविजन बैंच दिल्ली हाईकोर्ट ने 2019 के अपने एक ऑर्डर में इस बात की पुष्टि की कि सतेंद्र जैन ने मनी लॉन्ड्रिंग की है? ये कंपनियां वो अपनी धर्मपत्नी के साथ शेयर होल्डिंग के माध्यम से कंट्रोल करते हैं । केजरीवाल जी क्या ये सत्य है कि सतेंद्र जैन शैल कंपनीज के मालिक हैं। इन शैल कंपनीज का नाम है इंडो मैटेलिक इम्पेक्स प्राइवेट लिमिटेड, अकिंचन डेवेलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, प्रयास इन्फो सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड, मंगलयतन प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड।

ईरानी ने आगे और सवाल करते हुए कहा कि केजरीवाल जी क्या ये सत्य है कि इस कालेधन के माध्यम से सतेन्द्र जैन ने दिल्ली के कई इलाकों में 200 बीघा जमीन अपने नाम की। क्या ये भी सत्य है कि सतेंद्र जैन आज प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत चार्जशीट में मुख्य आरोपी हैं? सतेंद्र जैन ने स्वयं स्वीकार किया कि 16.39 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग हवाला कारोबार के माध्यम से की गई । स्मृति ने दिल्ली के मुख्यमंत्री से पूछा कि क्या ऐसा व्यक्ति आज भी केजरीवाल सरकार का मंत्री बना रहना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री ने केजरीवाल से यह भी पूछा कि क्या ये सत्य है कि 16.39 करोड़ रुपये की मनी लांडरिंग की गई जो आय है, उस पर टैक्स लगाया जाए, ये प्रस्ताव स्वयं सतेंद्र जैन की कंपनियों का था।