Wed. Aug 10th, 2022

सीएसआर रिसर्च फाउंडेशन ने नीति आयोग के सहयोग से ग्रीन एनर्जी पर कार्यक्रम का आयोजन किया


नई दिल्ली, 27 जुलाई (हि.स.)। ग्रीन एनर्जी एवं इसके महत्व पर सीएसआर रिसर्च फ़ाउंडेशन ने नीति आयोग भारत सरकार के सहयोग से 25 और 26 जुलाई को दो दिन का कार्यक्रम दिल्ली के ली मेरिडियन होटल में आयोजित किया ।

इस कार्यक्रम में केन्द्रीय शिक्षा राज्य मंत्री डॉ सुभाष सरकार ने विभिन्न सरकारी योजनाओं के विषय में बताया और ग्रीन एनर्जी में भारत कैसे एक अग्रणी भूमिका निभा सकता है उस पर भी चर्चा की। उन्होंने ऊर्जा बचाने पर भी बहुत ज़ोर दिया और सभी को इस पर कार्य करने के लिये सभी को शपथ भी दिलायी।

इस अवसर पर बालकृष्ण अग्रवाल ने ग्रीन एनर्जी पर अपने वक्तव्य में हाईड्रोजन पर हो रहे कार्यों और सरकारी स्कीमों के बारे में बताया।

कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता सुभाष चन्द्र अग्रवाल एसएमसी ग्रुप के सीएमडी ने की एवं कार्यक्रम के प्रमुख वक्ता जस्टिस चन्द्रशेखर ने दीप प्रज्वलित कर इस प्रोग्राम का विधिवत उद्घाटन किया।

प्रोग्राम के विभिन्न सत्रों में सरकारी अफ़सरों, वैज्ञानिकों, उपकरण निर्माताओं, रिसर्च कर रहे संस्थानो के प्रतिनिधियों एवं पब्लिक सैक्टर के अफ़सरों ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम में देश की 12 कंपनियों के 60 से ज़्यादा अफ़सरों ने भाग लिया एवं कार्यक्रम को बहुत ही उपयोगी एवं उत्तम स्तर की जानकारी देने वाला बताया ।

कार्यक्रम का आयोजन सीएसआर रिसर्च फाउंडेशन के अध्यक्ष दीनदयाल अग्रवाल के मार्गदर्शन में किया गया। दो दिन के कार्यक्रम का संचालन वेदप्रकाश महावर पूर्व निदेशक ओएनजीसी एवं प्रेसिडेंट सीएसआर रिसर्च फ़ाउंडेशन ने बहुत ही कुशलता से किया।

समापन समारोह में पूर्व चीफ़ जस्टिस केजी बालाकृष्णन ने स्वच्छ ऊर्जा के उपयोग और इसके लिये ज़रूरी तकनीकी को बढ़ावा देने पर ज़ोर दिया। सभी प्रतिभागियों ने इस तरह के कार्यक्रम को निरंतर करते रहने का सुझाव दिया । आखिर में दीनादयाल अग्रवाल ने सभी सहयोगी संस्थानों, कार्यक्रम में सहयोगी टीम के सदस्यों एवं प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया।