Thu. Feb 29th, 2024

सत्ता की लालच में हिन्दुत्व से गुमराह हुए थे उद्धव : एकनाथ शिंदे


अयोध्या, 09 अप्रैल (हि.स.)। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने एक दिवसीय दौरे पर रविवार को राम नगरी पहुंचे। भगवान राम का दर्शन करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि राम मंदिर निर्माण से बाला साहेब ठाकरे का सपना पूरा हो रहा है। राम मंदिर हमारी श्रद्धा और आस्था से जुड़ा है। यहां आकर बहुत अच्छा लगा। अयोध्या की इस यात्रा को हम जीवन में कभी भूल नहीं पाएंगे। इस दौरान उन्होंने हिन्दुत्व के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे पर भी हमला बोला।

मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि 500 सालों के इंतजार के बाद मुझे खुशी है कि शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे का अयोध्या में भव्य और दिव्य राम मंदिर निर्माण का सपना पूरा हो रहा है। आज मंदिर के स्तंभ और छत भी दिखाई दे रहे हैं, जिसे देख आश्चर्य हो रहा है। ये सब प्रधानमंत्री मोदी की शुरुआत और उनका नेतृत्व है। मुख्यमंत्री योगी की निगरानी में पूरा काम हो रहा है। भगवान राम की कृपा से हमें पार्टी का नाम और धनुष बाण मिला है। इसलिए हम सभी मंत्रियों के साथ यहां रामलला का आशीर्वाद लेने पहुंचे हैं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या यात्रा को मैं कभी जिंदगी में भूल नहीं पाऊंगा। पहले में नियोजन करने आता था। आज कार्यकर्ताओं ने यात्रा का नियोजन किया है। जो इतना भव्य आयोजन हुआ। आज हमारी पूरी सरकार यहां मौजूद है। मेरे सहयोगी उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी आए हैं। संत-महंतों का आशीर्वाद और सरयू आरती का भी दर्शन होगा।

उन्होंने कहा कि राम मंदिर और अयोध्या भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और शिवसेना के लिए राजनीति का विषय नहीं है। यह हमारी आस्था का विषय है। मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि अयोध्या का विकास तेजी से हो रहा है। लाखों-करोड़ों लोगों को रोजी-रोटी के साथ मंदिर मिलने जा रहा है। शिंदे ने कहा कि ‘2019 में जो लोगों का मन था कि बीजेपी शिवसेना की सरकार साथ में बने। उन्हें सत्ता के लालच में गुमराह किया गया लेकिन हमने आठ महीने पहले जनता के फैसले को निभाया है।

मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि महाराष्ट्र के लोगों के मन में जो था, वैसी सरकार हमने बनाई है। खुलेआम दोनों की विचारधारा को लेकर आज अयोध्या में दर्शन करने आए हैं। जो लोग जानबूझकर ऐसा कह रहे हैं, वह कहते थे कि पहले मंदिर फिर सरकार। जो लोग कहते थे कि मंदिर वहीं बनाएंगे तारीख नहीं बताएंगे, वे लोग आज झूठे साबित हुए, क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी ने मंदिर भी बना दिया और तारीख भी बता दिया।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर कहा कि भगवान राम ने बिना कुछ कहे पिताजी के वचन को निभाकर 14 साल वनवास काटा, दूसरी तरफ जिस बेटे ने जनता और अपने पिता को जबान दी थी, उसने सत्ता के लालच में क्या-क्या किया।

उन्होंने कहा कि पिछले आठ-नौ महीनों में जो निर्णय हुए वह कई सालों में नहीं हुए हैं। हमारी सरकार आमजन, कामगारों, विद्यार्थी, महिला गरीब जन, सभी की सरकार है। मैं घर में बैठने नहीं बल्कि फील्ड में काम करने वाला मुख्यमंत्री हूं। आदेश देकर एसी में बैठने वाला नहीं बल्कि कार्यकर्ता और जमीन से जुड़ा हुआ मुख्यमंत्री हूं।

मुख्यमंत्री शिंदे ने अपनी कैबिनेट के साथ रविवार को रामजन्मभूमि में मन्दिर निर्माण का अवलोकन कर श्री राम लला की आरती उतारी और पूजा अर्चना की।

उनके साथ महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, सांसद कल्याण उनके पुत्र श्री कांत शिन्दे, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चम्पत राय, उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के साथ महाराष्ट्र सरकार के मंत्री, विधायक और बड़ी संख्या में शिव सैनिकों का हुजूम अयोध्या में जमा हुआ है। मुख्यमंत्री शिंदे राम नगरी के लक्ष्मण किला मैदान में संन्तों का आशीर्वाद लेकर, मां सरयू की आरती कर महाराष्ट्र के लिए रवाना हो जाएंगे l