Mon. May 23rd, 2022

लुम्बनी से कुशीनगर आयेंगे प्रधानमंत्री मोदी, महापरिनिर्वाण मन्दिर में टेकेंगे माथा


– युद्ध स्तर पर बनने लगे चार हेलीपैड

कुशीनगर, 12 मई (हि.स.)। बुद्ध पूर्णिमा के दिन 16 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लुम्बनी से कुशीनगर आयेंगे। प्रधानमंत्री महापरिनिर्वाण मन्दिर में बुद्ध की शयन मुद्रा वाली प्राचीन प्रतिमा के समक्ष माथा टेक पूजन-अर्चन करेंगे। पुनः सड़क मार्ग से एयरपोर्ट आकर दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

प्रधानमंत्री कार्यालय से मिनट टू मिनट कार्यक्रम का इंतजार यहां का जिला प्रशासन कर रहा है। हालांकि प्रशासन सभी सम्भावनाओं पर कार्य तेजी से कर रहा है। चर्चाएं व तैयारियों से प्रधानमंत्री के लुम्बनी से कुशीनगर आने के संकेत मिल रहे हैं। कुशीनगर में मैत्रेय की भूमि पर प्रधानमंत्री की हेलीकाप्टर फ्लीट के लिए चार हेलीपैड बनाए जाने का कार्य युद्धस्तर पर शुरू हो गया है।

महापरिनिर्वाण मन्दिर में भी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने भी तैयारियां शुरू करा दी है। प्रधानमंत्री के आने जाने के मार्ग की साफ—सफाई व मरम्मत में कर्मचारियों की फौज लगाई गई है। प्रधानमंत्री म्यांमार बौद्ध विहार भी जाएंगे। मन्दिर में बौद्ध भिक्षु ज्ञानेश्वर प्रधानमंत्री की पूजा सम्पन्न कराएंगे।

जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने गुरुवार को एयरपोर्ट पहुंच तैयारियां देखीं। एयरपोर्ट पर निदेशक अनिल कुमार द्विवेदी व प्रबन्धक सन्तोष मौर्य की देख रेख में तैयारियों को अंजाम दिया जा रहा है। एयरपोर्ट पर डीएम ने एसडीएम वरुण कुमार पांडेय को व्यवस्था को लेकर जरूरी निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक धवल जायसवाल सुरक्षा तैयारियों को अमलीजामा पहनाने के लिए तैयारियों में लगे रहे।

छह माह के भीतर प्रधानमंत्री के कुशीनगर आने का यह दूसरा अवसर है। पहले प्रधानमंत्री के कुशीनगर एयरपोर्ट पर आने व यहां से लुम्बनी जाने और पुनः एयरपोर्ट पर आ दिल्ली जाने का कार्यक्रम सम्भावित था।

लोनिवि बना रहा हेलीपैड

कुशीनगर में प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर लोनिवि 30 वर्ग मीटर के व्यास वाला चार हेलीपैड बना रहा है। अवर अभियंता आरएन राव ने बताया कि चारों हेलीपैड दो दिन के अंदर बनकर तैयार हो जाएगा।