Sun. Jun 26th, 2022

लक्ष्य सेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट की अल्मोड़ा की ‘बाल मिठाई’


नई दिल्ली, 22 मई (हि.स.)। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अल्मोड़ा की ‘बाल मिठाई’ भेंट की।

भारतीय टीम ने 1949 में अपनी स्थापना के बाद से पहली बार थॉमस कप का ताज जीतकर 15 मई को इतिहास रच दिया। फाइनल में जीत हासिल करने के तुरंत बाद, पीएम मोदी ने खिलाड़ियों के साथ टेलीफोन पर बातचीत की, जहां उन्होंने लक्ष्य सेन से मिठाई के लिए अनुरोध किया था।

रविवार को पीएम मोदी ने थॉमस और उबर कप के भारतीय दल के साथ बातचीत की, जहां लक्ष्य ने अपना वादा पूरा किया।

पीएम मोदी ने कहा, सबसे पहले मैं लक्ष्य को मेरे लिए अल्मोड़ा की बाल मिठाई लाने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। मैं बहुत आभारी हूं कि उन्होंने मेरे छोटे से अनुरोध को याद किया और इसे पूरा किया।

इसका जवाब देते हुए लक्ष्य ने कहा, जब मैंने यूथ ओलंपिक में पदक जीता था, तब मैं आपसे पहली बार मिला था और आज दूसरा मौका है जो मुझे आपसे मिलने का मिला है। जब भी हमें आपसे मिलने का मौका मिलता है, यह हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाता है और हम बहुत प्रेरित महसूस करते हैं। यह वास्तव में हम सभी के लिए बहुत अच्छा एहसास है। मैं और अधिक टूर्नामेंट जीतने, आपसे मिलने और आपके लिए बाल मिठाई लाने की उम्मीद कर रहा हूं।

पीएम मोदी ने आगे लक्ष्य को सलाह दी कि वह अपने स्वभाव को बनाए रखें और आगे बड़े लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करते रहें।

बाद में मीडिया से बातचीत में लक्ष्य ने कहा, ”प्रधानमंत्री छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देते हैं। वह जानते थे कि अल्मोड़ा की ‘बाल मिठाई’ बहुत मशहूर है, इसलिए उन्होंने मुझसे इसे लेने के लिए कहा था। इतना बड़ा आदमी जब आपसे बातें कह रहा है तो ये छोटी-छोटी बातें बहुत महत्वपूर्ण हो जाती हैं। इसलिए उससे बात करना बहुत अच्छा लगता है।

लक्ष्य ने फाइनल के पहले मैच में टोक्यो ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता एंथनी गिंटिंग को हराकर भारत को मजबूत शुरुआत दिलाई थी।

बता दें कि इससे पहले कोई भी भारतीय टीम अपने 70 से अधिक वर्षों के इतिहास में थॉमस और उबेर कप के फाइनल में नहीं पहुंची है। भारतीय पुरुष 1952, 1955 और 1979 में थॉमस कप के सेमीफाइनल में पहुंची थी, जबकि महिला टीम ने 2014 और 2016 में उबर कप के शीर्ष चार में जगह बनाई थी।