Mon. May 23rd, 2022

रेल मंत्री ने झंझारपुर-निर्मली के बीच ट्रेन सेवा को दिखाई हरी झंडी


नई दिल्ली, 07 मई (हि.स.)। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शनिवार को मधुबनी के झंझारपुर से सुपौल के निर्मली के बीच कोसी रेलवे पुल से गुजरने वाली नई रेल लाइन पर उद्घाटन ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस खंड के चालू होने के साथ ही मिथिला के दो हिस्सों के बीच रेल संपर्क 1934 के बाद पहली बार फिर से स्थापित हो गया।

रेल मंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस मौके पर झंझारपुर-निर्मली के बीच आमान परिवर्तित रेलखंड और निर्मली-आसनपुर कुपहा के बीच नई रेल लाइन का रिमोट का बंटन दबाकर उद्घाटन किया।यह उद्घाटन स्पेशल ट्रेन झंझारपुर से खुलकर तमुरिया, निर्मली, आसनपुर कुपहा, सरायगढ़, सुपौल होते सहरसा पहुंचेगी।

इस मौके पर रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे और बिहार का पुराना नाता रहा है बावजूद इसके पिछली सरकार ने राज्य की अनदेखी की। बिहार को केन्द्र की ओर से आवंटन को लेकर पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि 2009 से 2014 तक बिहार को मात्र 1132 करोड़ रुपये आवंटित होते थे। प्रधानमंत्री मोदी ने 2014-21 में इसे तीन गुना बढ़ाकर 3248 किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस साल बिहार को 6600 करोड का आवंटन रेलवे को किया है। पिछली सरकारों के मुकाबले यह छह गुना है।

बिहार सहित संपूर्ण पूर्वी क्षेत्र के विकास को सरकार की प्राथमिकता बताते हुए रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विजन पूर्वोदय का है। जब तक पूर्वी क्षेत्र का उदय नहीं होगा तब तक भारत का उदय नहीं हो सकता। पूर्वी क्षेत्र के उदय से ही भारत का उदय संभव है। वैष्णव ने कहा कि प्रधानमंत्री रेलवे, हाईवे, पावर, ब्राडबैंड और इंटरनेट सभी क्षेत्रों में पूर्वोदय को प्राथमिकता देते हैं।