Fri. May 27th, 2022

रूस की संयुक्त राष्ट्र को चुनौती, महासचिव के दौरे के बीच कीव पर दागीं मिसाइलें


कीव, 30 अप्रैल (हि.स.)। यूक्रेन पर हमले के दो महीने से अधिक पूरे होने के बावजूद रूस के तेवर कड़े हैं।रूस किसी वैश्विक संस्था व देश के दबाव में नहीं आ रहा है। संयुक्त राष्ट्र संघ को चुनौती देते हुए रूसी सेनाओं ने यूक्रेन की राजधाी कीव पर उस समय मिसाइलें दागीं, जब संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस स्वयं कीव के दौरे पर थे।

संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस मॉस्को का दौरा कर यूक्रेन पहुंचे हैं। मॉस्को में गुटेरेस ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के साथ भी विचार विमर्श किया था। गुटेरेस यूक्रेन पहुंचे और कीव का दौरा कर ही रहे थे, तभी रूसी सेनाओ की मिसाइलों ने कीव को दहला दिया। यह स्थिति तब है, जबकि पिछले कुछ दिनों से कीव पर रूसी सेनाओं का आक्रमण रुका हुआ था। अब अचानक कीव पर मिसाइल हमले को रूस द्वारा संयुक्त राष्ट्र को चुनौती के रूप में देखा जा रहा है।

गुटेरस जब यूक्रेन में फंसे नागरिकों की मदद के लिए राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की से मिलने पहुंचे थे तभी कुछ दूरी पर एक मिसाइल गिरी। संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रवक्ता सविआनो अब्रू ने कहा कि हमला संयुक्त राष्ट्र संघ के दल के बेहद करीब किया जाना चौंकाने वाला है। उन्होंने कहा कि सभी लोग सुरक्षित हैं। गुटेरेस और जेलेंस्की ने इन हमलों की निंदा की है। गुटेरस ने यूक्रेन को असहनीय पीड़ा का केंद्र करार दिया है। उन्होंने रूसी सेना द्वारा बरती गई क्रूरता की निंदा की।