Thu. Feb 22nd, 2024

रूसी सेना कीव से 4 किलोमीटर दूर, खारकीव में गैस पाइपलाइन को उड़ाया

A Russian tank T-72B3 fires as troops take part in drills at the Kadamovskiy firing range in the Rostov region in southern Russia, Wednesday, Jan. 12, 2022. Russia has rejected Western complaints about its troop buildup near Ukraine, saying it deploys them wherever it deems necessary on its own territory. (AP Photo)


– रूसी सैनिकों की घेराबंदी, यूक्रेन की मदद को जर्मनी, फ्रांस और नीदरलैंड आगे आए
– एयर इंडिया का विमान 198 छात्रों को लेकर बुखारेस्ट से दिल्ली के लिए रवाना हुआ
कीव/मास्को, 27 फरवरी (हि.स.)। यूक्रेन पर रूस के हमले के चौथे दिन ही राजधानी कीव के सिर्फ चार किलोमीटर रह गया है। यूक्रेन के सैनिकों ने शहर के किनारे-किनारे घेराबंदी कर रखी है। खारकीव में प्रवेश करने के साथ ही गैस पाइपलाइन को उड़ा दिया है। रूस की सेना लगातार आगे बढ़ती जा रही है। जर्मनी और फ्रांस ने यूक्रेन की मदद का आश्वासन दिया है। जर्मनी ने यूक्रेन को 1,000 टैंक रोधी हथियार और 500 ‘स्टिंगर’ सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल देने की घोषणा की है। नीदरलैंड ने यूक्रेन को हवाई क्षेत्र की सुरक्षा के लिए 200 एयर डिफेंस राकेट देने का ऐलान किया है। इस बीच एयर इंडिया का एक विमान 198 छात्रों को लेकर बुखारेस्ट से दिल्ली के लिए रवाना हुआ है।
यूक्रेन में पुलों और इमारतों को नुकसान पहुंचा
यूक्रेन ने दावा किया है कि 24 फरवरी से अब तक उसने रूस के 14 विमान, 8 हेलीकाप्टरों, 102 टैंकों, 536 बीबीएम, 15 भारी मशीनगनों और 1 बीयूके मिसाइल को नष्ट कर दिया है। इसके साथ ही क्रेमलिन ने 3,500 से अधिक सैनिकों को भी खो दिया है। इस युद्ध में यूक्रेन में पुलों और इमारतों को भी नुकसान पहुंचा है। यूक्रेन में बहुत सारे आम नागरिक भी रूसी सेना के खिलाफ कमर कस चुके हैं। उनका कहना है कि रूस की सेना बेकसूर लोगों पर वार कर रही है। रूस का दावा है कि वह केवल सैन्य ठिकानों को ही निशाना बना रहे हैं।
खारकीव में दाखिल हुए रूसी सैनि
यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव में रूसी सैनिक दाखिल हो चुके हैं। रिपोर्ट के अनुसार क्षेत्रीय प्रशासन के प्रमुख ने कहा कि रूसी सैनिकों और यूक्रेनी सशस्त्र बलों के जवानों के बीच भीषण लड़ाई चल रही है। यूक्रेन का कहना है कि रूसी सेना ने देश के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव में गैस पाइपलाइन को उड़ा दिया है। रूस ने यूक्रेन पर हमलों के बीच बड़ा दावा किया है। रूस का दावा है कि उसने यूक्रेन के दक्षिण और दक्षिणपूर्व में दो बड़े शहरों को घेर लिया है।
ग्रीस ने रूस के राजदूत को तलब किया
यूक्रेन के गवर्नर दिमित्री जिवित्स्की ने बताया कि रूसी गोलाबारी में 7 वर्षीय बच्ची समेत 6 लोग मारे गए हैं। ग्रीस के 10 लोग मार दिए गए। ग्रीस ने रूस के राजदूत को इस मामले में तलब किया है। यूक्रेन के सैनिकों ने बेलारूस के क्षेत्र से दागी गई मिसाइल को मार गिराया है। कीव शहर से 20 किलोमीटर दूर बुका में बिल्डिंग पर हमला किया गया है। इस बीच क्रेमलिन ने कहा है कि बेलारूस में यूक्रेन के साथ बातचीत के लिए तैयार
इंटरनेट सेवा बहाल
एलन मस्क का कहना है कि उनकी कंपनी स्पेसएक्स की स्टारलिंक उपग्रह ब्राडबैंड सेवा यूक्रेन में सक्रिय हो गई है। उन्होंने बताया कि कीव के एक अधिकारी ने टेक टाइटन से अपने संकटग्रस्त देश को स्टेशन उपलब्ध कराने का आग्रह किया था।
पड़ोसी देशों में शरण
रूस द्वारा यूक्रेन पर हमले जारी रखने के कारण हजारों यूक्रेन के नागरिकों ने पड़ोसी देशों में शरण ली। यूक्रेन से लोग अपना घर बार छोड़कर दूसरे देशों में पलायन कर रहे हैं। यूक्रेन से लगभग 1 लाख 20 हजार लोग पोलैंड, मोल्दोवा और अन्य पड़ोसी देश जा चुके हैं। रूसी हमले जारी रहने के कारण हजारों यूक्रेन के नागरिकों ने पड़ोसी देशों में शरण ली है।
रूस ने चार देशों के लिए हवाई क्षेत्र बंद किया
रूस ने अपने हवाई क्षेत्र को लिथुआनिया, लातविया, एस्टोनिया और स्लोवेनिया के विमानों के लिए बंद कर दिया है। रूस ने इन देशों द्वारा उठाए गए कदम के बाद ये फैसला लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, जर्मनी अपने हवाई क्षेत्र से रूस के लिए जाने वाली उड़ानों को रद्द करेगा।
एयर इंडिया का विमान भारत रवाना
यूक्रेन में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए भारत ने ऑपरेशन गंगा चलाया है। इसी के तहत एयर इंडिया का एक विमान 198 छात्रों को लेकर बुखारेस्ट से दिल्ली के लिए रवाना हुआ है। यूक्रेन में फंसे भारतीयों को लेकर शनिवार को भी बुखारेस्ट से दिल्ली के लिए एयर इंडिया की उड़ान रवाना हुई थी जो आधी रात में लगभग 02.30 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंची। उड़ान भरने से पहले भारतीयों ने किया ‘भारत माता की जय’ का उद्घोष किया था।