Thu. Feb 22nd, 2024

रामगढ़ में 6.5 करोड़ की लागत से बनेगा राज्य स्तरीय हाईटेक स्टेडियम


जिले के हर क्षेत्र में बहेगी विकास की गंगा : माधवी मिश्रा
रामगढ़, 26 फरवरी (हि.स.)। जिले के हर क्षेत्र में विकास की बयार बहने वाली है। जिला वासियों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी यह है कि शहर में 6.5 करोड़ की लागत से राज्य स्तरीय हाईटेक स्टेडियम का निर्माण होगा। दो चरणों में बनने वाला यह स्टेडियम रामगढ़ जिले की शान के रूप में प्रस्तुत होगा। यह बात शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डीसी माधवी मिश्रा ने कही। उन्होंने कहा कि डीएमएफटी फंड से यह योजना स्वीकृत की गई है। पिछले कई वर्षों से रामगढ़ जिलावासियों की यह मांग रही है कि ना तो यहां कोई बढ़िया इनडोर स्टेडियम और ना ही आउटडोर स्टेडियम। शहर के सिद्धो कान्हो मैदान में मल्टीपरपज यह स्टेडियम उस स्तर का होगा कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी भी आकर वहां पर रुक सके। खिलाड़ियों के लिए सुविधाओं के साथ-साथ जिम की भी व्यवस्था इस स्टेडियम में होगी।
उपायुक्त ने बताया कि रजरप्पा मंदिर में सॉलि़ड एवं लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट यूनिट स्थापित करने के लिए कार्य किया जा रहा है। जिसके उपरांत प्रतिदिन लोगों द्वारा चढ़ाई जाने वाले फूल पत्तियों सहित अन्य सामग्रियों का इस्तेमाल कर अगरबत्ती, गुलाल सहित अन्य सामग्रियां बनाने का कार्य किया जाएगा। जिससे ना केवल स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा, बल्कि साफ सफाई एवं कचरा प्रबंधन के लिए भी बेहतर सुविधा उपलब्ध होगी। जो भी उत्पादन यूनिट से किया जाएगा उसे जीसेलपीएस द्वारा संचालित पलाश मार्ट से जोड़ा जाएगा।
उपायुक्त ने कहा कि कई दिनों से रामगढ़ जिले वासियों की मांग थी कि रामगढ़ शहर में अपना एक पार्क हो। जिसे ध्यान में रखते हुए डीएमएफटी मद से समाहरणालय परिसर के समीप कम्युनिटी पार्क का निर्माण कराया जा रहा है। पार्क जल्द से जल्द बनकर तैयार हो इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा नियमित रूप से कार्यों की समीक्षा की जा रही है।
उपायुक्त ने कहा कि कृषि कार्यों को बढ़ावा देने के उद्देश्य जिला प्रशासन द्वारा कई तरह के पहल किए गए हैं। इसी क्रम में अब दुलमी एवं गोला प्रखंड के किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य से कृषि विज्ञान केंद्र, कृषि विभाग एवं अन्य माध्यमों से उन्हें बेहतर तरीके से कृषि करने एवं अपनी आय बढ़ाने के प्रति जागरूक करने के लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है।
उपायुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जिले में अवैध खनन पर पूरी तरह से रोक लगाने के लिए कुल 13 चेक नाके स्थापित किए गए हैं। नियमित रूप से वरीय पदाधिकारियों द्वारा चेक नाकों का निरीक्षण कर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों एवं पुलिस बल को आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया जा रहा है। वही सीसीएल सहित अन्य परियोजनाओं के वरीय अधिकारियों को उनके क्षेत्र में संचालित अवैध खनन मुहानों को बंद करने का निर्देश दिया गया है।
उपायुक्त ने कहा कि रामगढ़ शहर के बिजुलिया तालाब को विकसित करने के लिए सीएसआर के तहत सीसीएल के साथ समन्वय किया गया है। 90 लाख रुपए की लागत से जल्द ही इसे विकसित किया जाएगा। इस दौरान उपायुक्त ने कहा कि बिजुलिया तालाब में आने वाले गंदे पानी को रोकने के लिए बेहतर व्यवस्था बनाई जा रही है।
आपके अधिकार आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत प्राप्त आवेदनों के निष्पादन की जानकारी देते हुए उपायुक्त ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान जिला प्रशासन रामगढ़ को प्राप्त 110901 आवेदनों में 108433 आवेदनों का निष्पादन कर दिया गया है। जबकि 2465 मामले रिजेक्ट हुए हैं। वहीं शेष 3 आवेदनों को निष्पादित करने के लिए कार्य किया जा रहा है।
प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति के संबंध में जानकारी देते हुए उपायुक्त ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021 वॉइस में 55350 विद्यार्थियों के विरुद्ध 36973 विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी जा चुकी है। वहीं शेष विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति उपलब्ध कराने हेतु कार्य किया जा रहा है।
धान अधिप्राप्ति के तहत हुए कार्यों की जानकारी के संबंध में उपायुक्त ने कहा कि 180000 क्विंटल लक्ष्य के विरुद्ध अब तक 125609.37 क्विंटल धान अधिप्राप्ति की जा चुकी है, जो कि प्राप्त लक्ष्य का 69.78 प्रतिशत है। शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा नियमित रूप से कार्यों की समीक्षा कर आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है।
पेट्रोल सब्सिडी योजना के तहत उपायुक्त ने जानकारी दी कि अब तक रामगढ़ जिले में कुल 2923 लाभुकों को 659000 रुपए की सब्सिडी राशि उपलब्ध कराई जा चुकी है। उपायुक्त ने जानकारी दी कि फूलों झानो आशीर्वाद योजना के तहत जिले में कुल 397 महिलाओं की पहचान की गई थी। इनमें 363 महिलाओं को योजना से जोड़ते हुए लाभ दिया गया है।
इन सबके अलावा बैठक के दौरान उपायुक्त ने पत्रकारों को मनरेगा, पेंशन सहित जिले में चल रही अन्य योजनाओं के संबंध में हुए कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। बैठक के दौरान जिला परिवहन पदाधिकारी सौरभ प्रसाद, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी डॉ असीम कुमार, सहायक जिला जनसंपर्क पदाधिकारी शशांक शेखर मिश्र उपस्थित थे।