Mon. May 23rd, 2022

राजेन्द्र राजन एवं उनकी पत्नी का नहीं होगा अंतिम संस्कार, कर दिया देहदान


बेगूसराय, 09 मई (हि.स.)। प्रगतिशील लेखक संघ (प्रलेस) के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व विधायक राजेन्द्र राजन एवं उनकी पत्नी सुशीला देवी की मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। दोनों पति-पत्नी के शरीर पर डॉक्टर रिसर्च करेंगे तथा मेडिकल के छात्र अपनी पढ़ाई पूरी करेंगे, अपने पांचों बच्चे एवं मित्रों की उपस्थिति में पति-पत्नी ने देह दान कर दिया। 75वें जन्मदिवस 17 मई को इनके पुत्र-पुत्री इस फार्म को देहदान समिति को सौंप देंगे।

राजेन्द्र राजन ने सोमवार को बताया कि अपने सभी चार बेटियों संगीता, सुप्रीता, सुनीता, स्मिता एवं इकलौते बेटे अवनीश की सहमति के बगैर हम पति-पत्नी देह दान करने का निश्चय पूरा नहीं कर सकते थे। पांचों ने गहन विमर्श बाद ही अश्रुपूरित नयनों से रजामंदी दी, इस निर्णय से वे सभी अपने मां और बाप के कद से भी बड़ा हो गए। 75वें जन्मदिवस पर 17 मई को पांचों इस फार्म को देहदान समिति को भेंट करेंगे, इससे श्रेष्ठ भेंट और कुछ नहीं हो सकता है। बाप की जिम्मेदारियों से भगोड़े बने बाप को अपने बेटे, बेटियों पर नाज है। व्यक्तिगत रुप से मैं अपराधबोध से ग्रसित हूं, जब उन्हें बाप के साये की जरूरत थी दूर रहा, जब बीमार और अशक्त हो गया तो उनके संग हूं। मां-बाप की खुशियों केलिए वे न्योछावर रहते हैं। डॉ. अशोक गुप्ता, डॉ. एस. पंडित, डॉ. शशिप्रभा एवं डॉ. रंजना देहदान का फार्म लेकर हमारे गोदरगावां निवास पर पधारे थे।

ज्येष्ठ पुत्री संगीता और पुत्र अवनीश ने शव सौंपने के कर्तव्य पालन की जिम्मेवारी को वहन करने के कॉलम पर दस्तखत किया तथा साक्षी बने आनंद, श्रवण, पवन, अगम, शमशेर, नरेन्द्र एवं स्वाति। उन्होंने कहा कि चिकित्सा जगत के लिए मृत शरीर अमूल्य है, सिर्फ पढ़ाई ही नहीं, शोध और जटिल ऑपरेशन में सर्जन के लिए भी यह शरीर रोशनी का काम कर कई जिंदगियां बचाती है। मेडिकल कॉलेजों में डॉक्टर बनने वाला प्रत्येक छात्र मानव शरीर को अंदर से देखकर ही प्रैक्टिकल सीखते हैं। मेडिकल ऑपरेशन में भी जब कोई नई तकनीक आती हैं, तो उसे सीखने और प्रैक्टिकल कर देखने के उद्देश्य से कडैवेरिक वर्कशॉप (मानव शरीर पर प्रयोग) के लिए भी बॉडी का उपयोग किया जाता है। प्रैक्टिकल के लिए मानव शरीर नहीं मिलने की स्थिति में कई डॉक्टर जटिल ऑपरेशन करने से पहले जानवरों के मृत शरीर पर भी प्रैक्टिकल करते हैं।