Fri. May 27th, 2022

राजधानी में चोरी का बड़ा ग्राफ


-सबसे ज्यादा मोबाइल हुए चोरी

नई दिल्ली , 28 अप्रैल (हि.स.)। राजधानी में घरों में होने वाली चोरी एवं सेंधमारी का ग्राफ बढ़ा है। वर्ष 2021 के बाद 2022 में घर के भीतर चोरी/सेंधमारी की वारदातें तीन गुना बढ़ गई हैं। इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने मंथन किया की सेंधमार किस तरह के सामान ज्यादा चोरी कर रहे हैं। इसमें चौंकाने वाले नतीजे सामने आए हैं। सेंधमार मोबाइल व लैपटॉप से लेकर बिजली-पानी के मीटर तक चोरी कर रहे हैं।

वर्ष 2021 में 24 मार्च से 20 अप्रैल के बीच जहां 382 वारदातें हुई थीं तो वहीं वर्ष 2022 में इसी अवधि के दौरान 1376 घटनाएं हुईं। आंकड़े की माने तो इस साल सेंधमारी की वारदातों में बीते एक महीने के भीतर करीब 400 फीसदी का इजाफा हुआ है। हाल ही में पुलिस कमिश्नर की बैठक में इन आंकड़ों को पेश किया गया था।

उल्लेखनीय है कि पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने कुछ माह पूर्व ही सेंधमारी की एफआईआर को ऑनलाइन दर्ज करने की सुविधा दी है। इसके चलते भी सेंधमारी के मामले ज्यादा दर्ज हो रहे हैं। पुलिस कमिश्नर ने सभी जिले के डीसीपी को निर्देश दिए हैं कि सेंधमारी रोकने के लिए अपनी योजना तैयार करके उसे लागू करें।

दिल्ली में चोरी/सेंधमारी से जुडे़ आंकड़े

साल वारदात संख्या

2021- चोरी/सेंधमारी- 1578

2022- चोरी/सेंधमारी- 4749

2022- मामले सुलझाए- 1379

2022- बरामदगी- 702

2022- सेंधमार गिरफ्तार- 1234

2022- गिरफ्तार फर्स्ट टाइमर सेंधमार- 897

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, सेंधमारी रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने इस वर्ष दर्ज हुए मामलों पर मंथन किया। जिससे पता चला है कि सबसे ज्यादा 1742 मोबाइल चोरी की वारदातें हुई हैं। इसके बाद दूसरे नम्बर पर 890 पानी के मीटर चोरी हुए हैं, जबकि तीसरे नम्बर पर 108 बिजली के मीटर चोरी हुए। इनके अलावा लोगों के घर के सिलेंडर, आधार कार्ड, वोटर कार्ड, चेक बुक, डेबिट/क्रेडिट कार्ड, सिम कार्ड, लैपटॉप, साइकिल आदि चोरी होने के अधिक्तर मामले हैं।

पुलिस ने सेंधमारी की वारदातों में इस वर्ष 1234 सेंधमार गिरफ्तार किए हैं। जिनमें से 897 पहली बार गिरफ्तार हुए हैं। पुलिस के लिए यही फर्स्ट टाइमर सिरदर्द बने हुए हैं।