Wed. Feb 21st, 2024

रबिदास का विचार समता मूलक समाज था: जयप्रकाश प्रकाश


बगहा,17 फरवरी(हि.स.)।बगहा नगर परिषद के रतनमाला मुहल्ला स्थित बौद्ध विहार रत्नमाला में बोधिसत्त्व रविदास जयन्ती का आज आयोजन किया गया । कार्यक्रम के उपस्थिति अतिथियों नें संत रविदास के आदर्शों पर चलने का आह्वान करते हुए बताया कि उनके पथ पर चलकर समता मूलक समाज एवं लोकतांत्रिक व्यवस्था कायम किया जा सकता हैं।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जय प्रकाश नें कहा है कि – ” ऐसा चाहूं राज मैं, जहाँ मिलै सबन को अन्न । छोट बड़ौ सभ सम बसै,रविदास रहै प्रसन्न ॥वहीं गणमान्य वक्ताओं में शामिल अयूब अंसारी, अता उर रहमान, शैलेश पासवान, राम भज्जू राम ,प्रमोद राम हरि शंकर बौद्ध, तिरेँद्र राम, सुनील राऊत, गायक दशरथ राजा, विश्व मोहन गुप्ता अशोक गुप्ता, एम. राव आम्बेडकर, जितेंद्र राम, पारस राम, वीरेंद्र मन्टु दास, माया प्रकाश, मन्जीत ,सुजीत प्रकाश ,मों .कौनैन ,बदरे आलम एवं अन्य लोगों नें रैदास को महान संत, समाज सुधारक ,बताया। बौद्ध विहार से पंचशील भवन तक परिभ्रमण विहार करते हुए सभी नें धूम धाम से रैदास महाराज के चित्र पर फूल माला, मोमबत्ती जलाकर उनका 645वां प्रकाशोत्सव मनया एवं महाप्रसाद का पान करते हुए सबके कल्याण के लिए प्रार्थना किया गया। सब्बे सत्ता सुखी होंतु, सब्बे होंतु च खेमिनो । सब्बे भद्राणि पस्संतु ,मा कन्चि दुक्ख मा गमा ॥ ” भवतु सब्ब मंगलम” के साथ कार्य क्रम संपन्न हुआ ।धन्यवाद ज्ञापन सुरेश राम नें किया।