Wed. Feb 21st, 2024

यूपी की सलामती के लिए भाजपा सरकार जरूरी : अमित शाह


-शाह ने कहा- पिछले तीन चरणों के चुनाव में सपा, बसपा, कांग्रेस का सूपड़ा साफ
बाराबंकी, 21 फरवरी (हि.स.)। भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के पीलीभीत, सीतापुर और बाराबंकी जिले में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। शाह ने कहा कि सपा, बसपा एवं कांग्रेस ने माफिया और आतंकियों को बचाने का काम किया है। प्रदेश की सलामती के लिए, दंगे और आतंकवाद से मुक्त रखने के लिए भाजपा की सरकार जरूरी है।
अमित शाह ने बाराबंकी की जनसभा में कहा कि उत्तर प्रदेश में तीन चरण का मतदान हो चुका है। चौथे चरण का मतदान होने वाला है। तीन चरणों के चुनाव में सपा, बसपा और कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है। दूरबीन से भी कांग्रेस दूर-दूर तक दिखाई नहीं पड़ती। तीन सौ से ज्यादा सीटों के साथ भाजपा फिर से सरकार बनाने जा रही है।
उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के शासन में हमारा उत्तर प्रदेश टेरर हॉटस्पॉट के रूप में जाना जाता था। यहां से देशभर में आतंकवादी जाते थे। उत्तर प्रदेश दंगों का सेंटर माना जाता था। माफिया का कॉरिडोर माना जाता था। मित्रों आज मैं कहने आया हूं कि पांच साल में आतंकवाद, दंगा और माफिया कहीं दिखाई नहीं पड़ता है। उत्तर प्रदेश को सलामती देने का काम हमारी भाजपा की योगी सरकार ने किया है।
आप सभी को उप्र में 2017 से पहले हुए दंगे याद होंगे। उन दंगों से प्रभावित होने से बाराबंकी भी नहीं बच पाया होगा। एक तरफ दंगों से लोग अपनों को खो रहे थे, उस समय सैफई महोत्सव में अखिलेश गाना सुन रहे थे। शाह ने जनता से पूछा कि ऐसी सरकार चल सकती है क्या? ऐसी सरकार को लाना चाहिए क्या? उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के खिलाफ मुकदमे सपा सरकार ने वापस ले लिए थे। कांग्रेस, सपा और बसपा ने दंगाइयों और आतंकियों को बचाने का काम किया है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी से एक इंटरव्यू में आतंकवाद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ऐसी फालतू चीजों के लिए मेरे पास वक्त नहीं है। शाह ने कहा कि बम फोड़कर हमारे लोगों की जान लेने वालों को सजा दिलाने का काम फालतू चीज है। क्या उन्हें सजा मिलनी चाहिए या नहीं मिलनी चाहिए?
गृहमंत्री ने कहा कि अहमदाबाद सीरियल ब्लास्ट के 38 दोषियों को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई। अखिलेश बाबू और प्रियंका को यह फालतू चीज लगती है। अखिलेश बाबू जिस बम धमाके में सैकड़ों लोगों की जान गई थी, वह आपके लिए फालतू हो सकता है, लेकिन भाजपा के कार्यकर्ता के लिए आतंकवादियों को फांसी चढ़ाने से और कोई बड़ा काम नहीं हो सकता।
शाह ने कहा कि मैं आज बताने आया हूं कि उत्तर प्रदेश में निजाम का राज चलता था। अखिलेश की सरकार थी तो यहां एक निजाम का राज था। एन से नसीमुद्दीन, आई से इमरान मसूद, ए से आजम खान, अतीक अहमद और एम से मुख्तार अंसारी। अमित शाह ने लोगों से बारी-बारी इन बाहुबलियों का नाम लेकर पूछा कि मुख्तार अंसारी आज कहां हैं? आजम खान आज कहां हैं? अतीक अहमद कहां है ? तो पब्लिक ने कहा कि जेल में है। उन्होंने लोगों को चेताया कि गलती से भी बाराबंकी वालों ने साइकिल की सवारी कर ली तो क्या होगा? तीनों जेल में रहेंगे? वह तुरंत बेल पर बाहर आ जाएंगे। योगी की सरकार आई तो उन्हें कोई जेल से बाहर निकाल नहीं सकेगा। उत्तर प्रदेश की सलामती के लिए उत्तर प्रदेश को दंगे और आतंकवाद से मुक्त करने के लिए भाजपा की सरकार जरूरी है।
अमित शाह ने कहा कि यहां पर समाजवाद के नाम पर जातिवाद की राजनीति की गई। परिवारवाद की राजनीति की गई। तुष्टीकरण की राजनीति की गई। उन्होंने पिछड़ों का कभी भला नहीं किया। गरीबों का कल्याण कभी भी नहीं किया। नरेन्द्र मोदी की सरकार ने एक करोड़ 67 लाख माताओं को नि:शुल्क गैस कनेक्शन दिया। दो करोड़ 61 लाख घरों में शौचालय बनाने का काम योगी सरकार ने किया। एक करोड़ 40 लाख गरीबों के घर में बिजली पहुंचाने का काम भाजपा सरकार ने किया है। 42 लाख गरीबों को आवास देने का काम भी योगी आदित्यनाथ सरकार ने किया है। दो करोड़ 56 लाख किसानों को छह हजार रुपये प्रति वर्ष देने का काम मोदी सरकार ने किया है। गरीबों को दो साल तक मुफ्त अनाज देने का भी काम योगी-मोदी सरकार ने किया है।