Wed. Feb 21st, 2024

यूक्रेन से उदयपुर की दो बेटियां सकुशल पहुंची


उदयपुर, 27 फरवरी (हि. स.)। रूस यूक्रेन संकट के बीच रविवार को यूक्रेन में एमबीबीएस में अध्ययनरत यहां की दो बेटियां सकुशल पहुंची, जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने बेटियों का स्वागत किया तो बेटियों व उनके परिजनों ने सरकार की पहल का आभार जताया है।
रविवार दोपहर 2.30 बजे दिल्ली से विस्तारा की फ्लाइट से उदयपुर पहुंची यूक्रेन में एमबीबीएस की छात्रा भार्गवी वशिष्ट व मोक्षिता उपाध्याय को रिसीव करने खुद जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा डबोक एयरपोर्ट पहुंचे। कलेक्टर मीणा व एडीएम सिटी अशोक कुमार ने दोनों छात्राओं के सकुशल उदयपुर पहुंचने पर स्वागत किया और यहां पर उनसे बात की। कलेक्टर ने उनके यूक्रेन में अध्ययन, वहां प्रवास और इस संकट के आने के बाद उपजी स्थितियों और सरकार की मदद से स्वदेश वापसी के बारे में तसल्ली से बात की। दोनों छात्राओं और उनके परिजनों ने उनकी सकुशल स्वदेश वापसी पर भारत सरकार और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार जताया।
शुक्रवार को मिली सूचना तो तत्काल निकली
बेटियों ने कलेक्टर मीणा को बताया कि उनकी पढ़ाई अच्छी चल रही थी और सब कुछ ठीक था, परंतु अचानक ही माहौल बदल गया। दस पंद्रह दिनों से वॉर की संभावनाओं को हर व्यक्ति आसानी से ले रहे थे और अचानक बमबारी हुई तो सब लोग डर गए। वॉर शुरू होने की सूचना पर तत्काल पैकिंग शुरू की वहीं एक माह का राशन भी ले आए। इधर, शुक्रवार को कंसल्टेंट व एंबेसी से सूचना मिली तो तत्काल निकल गए। लगभग 250-250 बच्चों के दो स्लॉट को रोमानिया होते हुए यहां लाया गया है। बहुत भीड़ होने के कारण यूक्रेन रोमानिया बोर्डर से लगभग 5 किलोमीटर पैदल चलना पड़ा। वहां एयरपोर्ट पहुंच कर एयर इंडिया की फ्लाइट से दिल्ली पहुंचे तो राहत मिली। उन्हें दिल्ली राजस्थान हाउस में रखा गया और रविवार को वहां से उदयपुर पहुंचाया गया।
दोनों उदयपुर शहर की निवासी
भार्गवी वशिष्ट शहर के यूनिवर्सिटी रोड़ पर आदर्शनगर की निवासी है और उनकी माता का नाम इंदु वशिष्ट और पिता का नाम चंद्रनारायण वशिष्ट है। भार्गवी एमबीबीएस तृतीय वर्ष की छात्रा है। इसी प्रकार मोक्षिता उपाध्याय हिरण मगरी सेक्टर 2 की निवासी है और उनकी माता का नाम निधि उपाध्याय व पिता का नाम नलिन उपाध्याय है। वह हिरण मगरी, सेक्टर 3 में रहती है और एमबीबीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा है।
यह था मुख्यमंत्री का फैसला
यूक्रेन में फंसे राजस्थान के विद्यार्थियों के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला किया था। मुख्यमंत्री ने कहा था कि यूक्रेन और रूस के बीच बने युद्ध के हालात के दौरान विदेश मंत्रालय की एडवाइजरी के बाद निजी खर्च से वतन वापस आने वाले राजस्थानियों के टिकट की राशि का पुनर्भरण किया जाएगा। इसी प्रकार उन्होंने दिल्ली, मुंबई तथा अन्य एयरपोर्ट्स पर आने वाले राजस्थानियों को घर तक पहुंचाने की सुविधा राजस्थान सरकार द्वारा करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए राजस्थान फाउंडेशन को-ओर्डिनेट करेगा।