Thu. Feb 22nd, 2024

यूक्रेन में फंसे भारतीय, सोशल मीडिया से फोन कॉल तक मदद में जुटा दूतावास


कीव, 24 फरवरी (हि.स.)। यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद राजधानी कीव स्थित भारतीय दूतावास ने वहां फंसे अठारह हजार से अधिक भारतीयों की मदद के लिए मदद के सभी चैनल खोल दिये हैं। सोशल मीडिया से फोन कॉल तक किसी भी तरह संपर्क का स्वागत करते हुए भारतीय दूतावास वहां फंसे नागरिकों की निकासी के प्रयास कर रहा है। इसके लिए भारतीय दूतावास ने विशेष एडवाइजरी भी जारी की है।

कीव स्थित भारतीय दूतावास द्वारा जारी की गयी एडवाइजरी में कहा गया है कि बदली परिस्थितियों में यूक्रेन का हवाई क्षेत्र बंद कर दिये जाने के कारण प्रस्तावित विशेष उड़ानें निरस्त कर दी गयी हैं। भारतीय नागरिकों को यूक्रेन से निकालने के लिए वैकल्पिक प्रबंध किये जा रहे हैं। जैसे ही इन प्रबंधों को मूर्त रूप दिया जाएगा, भारतीय दूतावास नागरिकों को इस संबंध में सूचित करेगा। तब तक भारतीय नागरिकों को यूक्रेन के पश्चिमी हिस्से में ही रहने का सुझाव दिया गया है।

एडवाइजरी में कहा गया है कि भारतीय नागरिक अपने पासपोर्ट व अन्य जरूरी कागजात सदैव अपने साथ रखें। नागरिकों को सलाह दी गयी है कि वे यूक्रेन स्थित भारतीय दूतावास के सभी सोशल मीडिया संपर्कों (फेसबुक, ट्विटर व इंस्टाग्राम) को फॉलो करें, ताकि उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से भी दूतावास द्वारा किये जा रहे प्रबंधों व यूक्रेन से निकासी की तैयारियों से जुड़ी जानकारियां मिल सकें। इस एडवाइजरी में दूतावास ने पांच मोबाइल नंबर 380997300483, 380997300428, 380933980327, 380635917881, 380935046170 भी जारी किये हैं।

इस बीच भारतीय विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा है कि विदेश मंत्रालय यूक्रेन से छात्रों सहित लगभग 18 हजार भारतीयों को वापस लाने के लिए कदम उठा रहा है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन में हवाई क्षेत्र बंद होने के कारण भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है। केंद्र सरकार सभी भारतीयों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी।