Thu. Feb 22nd, 2024

यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के विद्यार्थियों को भारतीय दूतावास से मदद की आस


-नैनीताल की छात्रा ने दूतावास के अधिकारी से बातचीत का ऑडियो भेज बताई स्थिति
नैनीताल, 26 फ़रवरी (हि.स.)। यूक्रेन में भारतीय छात्र-छात्राओं को समाचार चैनलों में दिखाई जा रही खबरों से इतर कुछ अलग ही परेशान करने वाली सच्चाई से सामना करना पड़ रहा है। नैनीताल निवासी एक छात्रा आयुषी जोशी ने यूक्रेन से अपने दो साथी छात्र-छात्राओं के भारतीय दूतावास के अधिकारियों से हुई बातचीत के ऑडियो भेजे हैं।
इन ऑडियो में सुनाई दे रहा है कि भारतीय छात्र वहां अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशनों के अस्थायी बंकरों में किसी तरह अपनी जान बचाते हुए दूतावास के अधिकारियों से उन्हें बाहर निकालने के बारे में जानकारी लेने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन उन्हें भारतीय दूतावास से किसी मदद के साथ कोई आश्वासन या सांत्वना भी नहीं मिल पा रही है। वे भारतीय दूतावास के अधिकारी से मदद मांग रहे हैं। उन्होंने मीडिया में दो बसों से छात्र-छात्राओं को बाहर निकालने के समाचारों का भी खंडन किया है। अलबत्ता, उनका यह कहा है कि जिन लोगों ने भी बाहर निकलने का प्रयास किया है, वह निजी स्तर पर और अपने जोखिम पर किया है। दूतावास की ओर से किसी को कोई आश्वासन भी नहीं दिया जा रहा है। उनका कहना है कि अभी सब कुछ बंद है, इसलिए उन्हें बाहर निकालने का कोई तरीका नहीं है। और इन स्थितियों से बाहर निकलने के लिए कोई समय सीमा भी नहीं बताई जा रही है।
दूतावास भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन के बीच बातचीत होने की तो पुष्टि कर रहा है, परंतु क्या बात हुई और इससे वहां फंसे व बीते दो दिनों से बिना सोये रह रहे करीब 5000 भारतीयों को बचाने के लिए क्या प्रयास किए जा रहे हैं, इस बात की भी कोई जानकारी नहीं दी दे रहा है।
नैनीताल के चार एमबीबीएस के विद्यार्थी फंसे हैं यूक्रेन में-
नैनीताल मुख्यालय के 4 विद्यार्थी यूक्रेन में फंसे हुए हैं। इनमें इवानो फ्रेंकिविस्क नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस की प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रही पूर्व विधायक डॉ. नारायण सिंह जंतवाल की बेटी उर्वशी जंतवाल, यहीं तृतीय वर्ष की पढ़ाई कर रही कूर्मांचल बैंक में कार्यरत विवेक जोशी और बिड़ला स्कूल में शिक्षिका मंजू जोशी की पुत्री आयुषी जोशी व मल्लीताल बड़ा बाजार के पहाड़ी वस्त्र भंडार वाले प्रेम सिंह बिष्ट की बेटी प्रेरणा बिष्ट तथा चर्नविष्टि शहर में बुकोविनियन स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस के अंतिम यानी पांचवे वर्ष की पढ़ाई कर रहे मनकापुर निवासी प्रह्लाद रावत के पुत्र राहुल रावत शामिल हैं।