Tue. Jun 28th, 2022

युवा नहीं कांग्रेस कर रही अग्निपथ योजना का विरोध : केंद्रीय कानून राज्य मंत्री


नैनीताल, 21 जून (हि.स.)। मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए नैनीताल पहुंचे केंद्रीय कानून राज्य मंत्री व पूर्व नौकरशाह प्रो. एसपीएस बघेल ने कहा, युवा नहीं बल्कि कांग्रेस अग्निपथ योजना का विरोध कर रही है। यह भी कहा कि युवा अब कांग्रेस के बहकावे में आने वाले नहीं हैं।

कानून राज्य मंत्री प्रो. बघेल ने कहा कि पिछले 48 घंटे में युवाओं ने योजना का विरोध बंद कर दिया है। अब केवल कांग्रेसी ही योजना के विरोध में सड़क पर रह गए हैं। उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना देश के युवाओं को सेना की परंपरा, अनुशासन से जोड़ेगी और जीवन में आगे बढ़ने का जज्बा देगी।

उन्होंने कहा कि 2014 में प्रधानमंत्री बने मोदी ने 2016 में विज्ञान भवन में हुई बैठक में ब्रिटिश काल के कानूनों को समाप्त करने की इच्छा जताई थी, और अब तक मोदी करीब 1450 कानूनों को समाप्त कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह 1860 की आईपीसी यानी भारतीय दंड संहिता और सीआरपीसी यानी भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता तथा 1872 के भारतीय साक्ष्य अधिनियम में भी देश, काल व परिस्थितियों के अनुसार देश व जनहित में बड़े स्तर पर परिवर्तन चाहते हैं। इस बारे में पत्रकारों, कानून के छात्रों, अधिवक्ताओं, न्याय पालिका, न्यायविदों, न्यायाधीशों, न्यायमूर्तियों, संविधान विशेषज्ञों व पुलिस अधिकारियों से इस बारे में सलाह लिए जा रहे हैं।

इस दौरान श्री बघेल ने यूपी पुलिस में अपने कार्यकाल के दौरान 1987 से 1990 पंडित नारायण दत्त तिवारी के सुरक्षा अधिकारी रहने के दौरान उत्तराखंड के खासकर संयुक्त नैनीताल जनपद के भ्रमण एवं बाद में समाजवादी पार्टी के नेता के रूप में बागेश्वर और ऊधमसिंह नगर जनपदों के गठन में योगदान देने की बात भी कही, तथा उत्तराखंड आंदोलन के दौरान समाजवादी पार्टी के शासनकाल में उत्तराखंड वासियों पर हुई ज्यादतियों का मलाल होने की बात भी कही। साथ ही कहा कि वह इसके लिए तत्कालीन डीआईजी बुआ सिंह को अब भी दोषी मानते हैं।