Wed. Jun 29th, 2022

युवाओं को भड़काने का काम कर रहे कुछ संगठन: प्रशांत कुमार


-अलीगढ़ में कई बस और चौकी में लगाई आग

-अलीगढ़ में डीएम-एसएसपी पर हमला, सुरक्षाकर्मियों को पीटा

लखनऊ,17 जून (हि.स.)। अग्निपथ योजना को लेकर प्रदेश के 14 से अधिक शहरों में विरोध प्रदर्शन के बीच अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार का बड़ा बयान है। इस विरोध प्रदर्शन की जांच में जुटी सुरक्षा जांच एजेंसियों को इनपुट मिले हैं कि युवाओं को कुछ संगठनों ने मिलकर भड़काया है। छात्रों के बीच कुछ अराजकतत्व भी घुस गए हैं। छात्रों को समझाने की पूरी कोशिश की जा रही है, जिसमें जनप्रतिनिधियों और ग्राम प्रधानों की भी मदद ली जा रही है। फिलहाल प्रदेश के बिगड़े हालातों को काबू में करने के लिए पुलिस प्रयासरत है।

एडीजी ने बताया कि अग्निपथ योजना को लेकर वाराणसी, बलिया, आगरा, उन्नाव, समेत 14 से अधिक जिलों में युवाओं ने विरोध प्रदर्शन किया है। बलिया में ट्रेन की बोगी और अलीगढ़ में कई सरकारी बसों को आग के हवाले कर दिया। जट्टारी इलाके में हालात बेकाबू हो रहे हैं। उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। इस दौरान उपद्रवियों की ओर से फायरिंग की गई। डीएम और एसएसपी पर भी हमला हुआ है। आठ बसों में आग लगाने के बाद अब जट्टारी चौकी को आग के हवाले कर दिया है। यहां जबरन बाजार बंद करा दीए। इसके साथ ही आगजनी भी की। अलीगढ़ टप्पल इलाके के यमुना एक्सप्रेस-वे इंटरचेंज पर अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने पीएसी कर्मी को घेरकर पीटा। साथ ही अलीगढ़ के भाजपा सांसद सतीश गौतम की शिला पट्टिका तोड़ दी। उपद्रवी सरकारी संपत्ति को आग के हवाले करने पर आमादा हैं।

उल्लेखनीय है कि चार वर्षों की अवधि के लिए सेना में शामिल करने के लिए केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना शुरू की है। इसको लेकर पूरे देश में विरोध शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को कई जिलों मे हिंसक प्रदर्शन हुआ। काबू में करने के लिए पुलिस पूरी कोशिश कर रही है।