Thu. Aug 18th, 2022

मोतिहारी के फिल्म लेखक संजीव झा को मिला राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार


-जबरिया जोड़ी और बारोट हाउस जैसे फिल्मो के लेखन के कई अन्य फीचर व बेव सीरिज लिखे चुके है संजीव

-फिल्म लेखन मे बिहार की स्थितियों को किया शामिल

मोतिहारी,24जुलाई(हि.स.)।जिले के युवा फिल्म लेखक संजीव कुमार झा लिखित बाल फिल्म सुमी का चयन सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्म के लिए किया गया है।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के द्धारा 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार की घोषणा मे संजीव लिखित फिल्म सुमी का नाम शामिल होने की घोषणा के साथ ही संजीव के परिजनो के साथ पूरे जिले मे खुशी की लहर दौड़ पड़ी है।

जिले के ढाका क्षेत्र के सोरपनियां गांव के मध्यम वर्गीय किसान परिवार मे जन्मे संजीव झा इसके पूर्व कई फिल्मो के लिए कहानियाँ लिख चुके है।जिसमे जबरिया जोड़ी व बारोट हाउस शामिल है।उनकी सफलता से उनके पिता जिले के वरिष्ठ पत्रकार नरेन्द्र झा भावुक होकर कहते है कि संजीव हमेशा अपनी कहानी को बिहार की स्थिति और अपने आसपास होने वाली समान्य घटना और परिस्थितियो को ही शामिल किया है।

उन्होंने कहा कि बाल फिल्म सुमी भले ही मराठी मे लिखी गई। लेकिन एक बेटी की संघर्ष से जुड़ी पूरी कहानी बिहार केन्द्रित ही है।मुजफ्फरपुर के एलएस काॅलेज से साइंस की पढाई के बाद संजीव ने जामिया मिलिया दिल्ली से अपनी पढाई पूरी कर पत्रकारिता की ओर रूख किया।फिर वे फिल्म लेखन को अपना कैरियर बनाया।2019 मे जबरिया जोड़ी फिल्म के स्क्रीन प्ले लिखने के साथ कई अन्य फीचर फिल्मो व बेव सीरिज के लिए लिख चुके है।

मोतिहारी के मुजीब गर्ल्स स्कूल में अध्यापक उनके बड़े भाई राजीव कु.झा ने बताया कि संजीव इस अवार्ड से काफी खुश है।और कहा है कि इससे हमारा हौसला बढा है। संजीव आगे बिहार के प्रेरणादायी शख्सियतो के उपर लिख रहे है।जिसे फिल्माकर बिहार ही नहीं पूरे देश के युवाओ को प्रेरित किया जा सके।