Wed. Jun 29th, 2022

मेरठ में रफ्तार पकड़ रहा रिजनल रैपिड रेल प्रोजेक्ट


मेरठ, 23 मई (हि.स.)। देश की पहली रिजनल रेल दिल्ली और मेरठ के बीच चलने का समय निकट आता जा रहा है। रैपिड रेल प्रोजेक्ट पर तेजी से काम चल रहा है। वर्ष 2023 तक दिल्ली और दुहाई के बीच रैपिड रेल का संचालन शुरू हो जाएगा। इसके साथ ही वर्ष 2024 तक दिल्ली से मेरठ तक रैपिड रेल चलने लगेगी।

मेरठ से दिल्ली की दूरी घटाने के लिए पहले दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का सपना साकार हुआ तो अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता वाली दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल का प्रोजेक्ट रफ्तार पकड़ रहा है। रैपिड रेल चलते ही दिल्ली से मेरठ के बीच केवल 45 मिनट में सफर पूरा किया जा सकेगा।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे से 55 मिनट में सफर पूरा

पहले मेरठ से दिल्ली जाने में तीन घंटे से ज्यादा का समय लग जाता था। यह सारा समय खराब सड़क और यातायात जाम के कारण लगता था। केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के बनने के बाद दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे (डीएमई) के फाइल में पड़े प्रोजेक्ट को बाहर निकाला गया और इस पर तेजी से काम शुरू हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के प्रयासों से तय समय से पहले डीएमई का काम पूरा हो गया और केवल 55 मिनट में मेरठ से दिल्ली के सराय काले खां तक का सफर पूरा हो गया है। मेरठ में खेल विवि का शिलान्यास करने के लिए प्रधानमंत्री डीएमई से होकर ही मेरठ पहुंचे थे। उन्होंने मंच से भी इस प्रोजेक्ट की सराहना की थी।

बन रही देश की पहली रिजनल रेल

दिल्ली और मेरठ के बीच रैपिड रेल ट्रांसपोर्ट सिस्टम देश की पहली रिजनल रेल का सपना साकार करने जा रहा है। इस प्रोजेक्ट पर दिल्ली के सराय कालेखां से मेरठ के मोदीपुरम तक तेजी से काम चल रहा है। पहले चरण में दिल्ली से दुहाई तक 2023 तक रैपिड रेल का संचालन शुरू हो जाएगा। इसके बाद दुहाई से मेरठ के शताब्दीनगर तक और अगले चरण में शताब्दीनगर से मोदीपुरम तक रैपिड रेल चलेगी। इस प्रोजेक्ट के 2025 तक पूरा होने का समय निर्धारित किया गया है। प्रोजेक्ट की गति को देखते हुए इसके 2024 तक ही पूरा होने की संभावना है।

मेरठ में चलेगी मेट्रो रेल

रैपिड रेल की लाइन पर ही मेरठ शहर के अंदर मेट्रो रेल का संचालन होगा। इसके लिए अलग से लाइन नहीं बिछानी होगी। मेरठ शहर में नवीन सब्जी मंडी से कंपनी बाग तक भूमिगत रेलवे लाइन बनाई जा रही है। इसके अलावा ओवरब्रिज पर रेलवे लाइन गुजरेगी। मेरठ में भूमिगत रेलवे स्टेशन बनाने का काम तेजी से जारी है और सुरंग खोदने का काम भी शुरू हो गई है। 10 मई को मेरठ आगमन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रैपिड रेल प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया था।