Wed. Aug 10th, 2022

मुहर्रम को लेकर प्रशासन अलर्ट, बेगूसराय में तैनात किए गए 317 मजिस्ट्रेट


बेगूसराय, 05 अगस्त (हि.स.)। इस्लामिक साल का नया माह आते ही मुहर्रम की तैयारी तेज हो गई है। मुहर्रम महीने के दसवें दिन मुहर्रम मनाया जाता है तथा इस साल नौ अगस्त को मनाए जाने वाले मुहर्रम को लेकर बेगूसराय में दो सौ से अधिक जगहों पर ताजिया बनाया जा रहा है, जुलूस की तैयारी की जा रही है।

मुहर्रम शांतिपूर्वक मनाया जाने को लेकर प्रशासनिक स्तर पर कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। जिले के किसी भी क्षेत्र में बगैर लाइसेंस के जुलूस निकालने पर रोक लगा दी गई है, जुलूस निकालने वाले को हर हाल में लाइसेंस लेना होगा। बेगूसराय पुलिस का सोशल मीडिया सेल एक्टिव में है, जिला से लेकर थाना स्तर तक शांति समिति की बैठक हो चुकी है।

डीएम रोशन कुशवाहा ने बताया कि जिला प्रशासन शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में पर्व के संपादन के लिए प्रतिबद्ध है तथा विधि-व्यवस्था संधारण एवं शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई है। जिला नियंत्रण कक्ष एक्टिव रहेगा, 317 जगहों पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल तैनात किए गए हैं। मुहर्रम से एक दिन पहले आठ अगस्त को अंतिम सोमवारी है, जिसको लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है।

संवेदनशील जगहों को चिन्हित कर वहां विशेष नजर रखने का निर्देश दिया गया है। मुहर्रम के मद्देनजर ताड़ी बिक्री पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाने, अंतिम सोमवारी के मद्देनजर संभावित चुनौतियां, डीजे पर प्रतिबंध, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नजर रखने आदि पर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। सभी प्रखंड एवं अनुमंडलस्तरीय अधिकारियों को सजग एवं सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है। अफवाह फैलाकर सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने वाले असामाजिक तत्वों पर नजर रखने, संवेदनशील स्थलों पर कड़ी निगरानी रखने तथा आदेश का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी।

मुहर्रम जुलूस को ध्यान में रखते हुए सभी संबंधित रूट को सत्यापन करने, तजिया के उंचाई का आकलन करते हुए बिजली तार आदि को दुरूस्त करने, साफ-सफाई का प्रबंधन रखने आदि का निर्देश दिया गया है। सभी एसडीओ एवं डीएसपी अपने क्षेत्र में लगातार सूचना संग्रहण तथा निश्चित करेंगे कि बिना लाइसेंस के कोई जुलूस नहीं निकले।

एसपी योगेन्द्र कुमार ने बताया कि सामान्य तौर पर बेगूसराय में सांप्रदायिक सद्भाव कायम रहता है, लेकिन आवश्यक एहतियात के तौर पर असामाजिक तत्वों पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। पुलिस प्रशासन द्वारा सभी आवश्यक तैयारी पूरी कर ली गई हैं। सभी डीएसपी एवं थानाध्यक्षों को अपने क्षेत्रों में फ्लैग मार्च करने तथा संवेदनशील स्थलों को चिन्हित कर उस पर नजर रखने का निर्देश दिया गया है। सभी पुलिस पदाधिकारी को अपने-अपने क्षेत्र में डीजे पर सख्ती से प्रतिबंध लगाने एवं असामाजिक तत्वों के विरूद्ध धारा-107 की कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया है।