Wed. Jun 29th, 2022

मुस्लिम महिला ने युवक का धर्मांतरण करा परिचित की बेटी से कराया निकाह


– हिन्दू संगठनों के विरोध के बाद आरोपितों पर दर्ज हुई एफआईआर

कानपुर, 24 मई (हि.स.)। काकादेव थाना क्षेत्र में धर्मांतरण का मामला सामने आया है। आरोप है कि हिन्दू युवक जो नाबालिग है, तलाकशुदा मुस्लिम महिला के संपर्क में आया और उसने युवक का धर्मांतरण करा दिया। इसके बाद अपने परिचित की बेटी से निकाह भी करा दिया। निकाह का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद परिजनों को जानकारी हुई। परिजनों ने थाना में न्याय की गुहार लगाई और सुनवाई न होने पर हिन्दू संगठनों के लोगों ने विरोध किया, तब जाकर आरोपितों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो सकी।

काकादेव के नवीन नगर में रहने वाली महिला ने बताया कि उसका 16 वर्षीय बेटा स्वरूप नगर स्थित एक मैगी प्वाइंट में काम करता है। यहीं पर उसकी मुलाकात जाजमऊ निवासी मुस्लिम महिला से हुई जो तलाकशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं। महिला के संपर्क में आने के बाद युवक की गतिविधियां संदिग्ध हो गई और नमाज पढ़ने के साथ ही मुस्लिमों की तरह कपड़े पहनने लगा। इसी बीच सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें वह निकाह करता हुआ दिख रहा है और मौलवी निकाह करा रहा है। वायरल वीडियो के बाद परिजनों को जब हकीकत की जानकारी हुई तो सामने आया कि तलाकशुदा महिला ने अपने परिचित मोहम्मद हनीफ की बेटी सिमरन से युवक का निकाह करा दिया है और उसने धर्मांतरण कर लिया है।

परिजनों ने युवक से जब पूछताछ की तो वीडियो वाली बात सही निकली। इस पर परिजनों ने थाना में न्याय की गुहार लगाई, लेकिन थाना में कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद परिजन बजरंगदल के प्रांत सुरक्षा प्रमुख आशीष त्रिपाठी से संपर्क किये तो बजरंग दल कार्यकर्ता पीड़ित परिवार से मिले और उनके 16 वर्षीय बेटे से भी बातचीत की। किशोर का कहना था कि उसका धर्मांतरण और निकाह हो चुका है। अब वह उन लोगों के साथ ही रहेगा। इसके बाद हिन्दू संगठनों के लोग थाना में घेराव करके दबाव बनाया और पुलिस के आलाधिकारियों के पहुंचने पर आरोपित महिला और मौलवी समेत कई अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर थाना पुलिस आगे की कार्रवाई शुरू कर दी।

पीड़ित परिवार को न्याय दिलाएगा हिन्दू संगठन

बजरंग दल के जिला संयोजक दिलीप सिंह, विद्यार्थी प्रमुख प्रिंस राज, आशीष त्रिपाठी और विश्व हिन्दू परिषद के पदाधिकारियों का कहना है कि पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाएगा, इसके लिए भले ही सड़कों पर उतरना पड़े। बजरंग दल के प्रांत सुरक्षा प्रमुख आशीष त्रिपाठी ने बताया कि मौलवी के घर पर किशोर को कलमा पढ़ाते हुए वीडियो इंटरनेट पर वायरल हुआ है। मौलवी और उसके गिरोह को चिह्नित कर उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई : एडीसीपी

एडीसीपी पश्चिम बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि किशोर पहले ढोल बजाने का काम करता था। बाद में वह मैगी की दुकान पर काम करने लगा था। इसी दौरान वह महिला से मिला था। यह कोई नहीं बता रहा है कि महिला उसको क्यों लेकर गई और मौलवी ने क्यों निकाह कराया। पूरे मामले की जांच की जा रही है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डीसीपी पश्चिम बीबीजीटीएस मूर्ति ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है। जांच के बाद रिपोर्ट दर्ज कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।