Thu. Feb 22nd, 2024

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरू रविदास मंदिर में लगाई हाजिरी, लंगर भी छका


बोले,पावन जन्मस्थली के समग्र विकास हेतु पूरी तन्मयता से सरकार कार्य कर रही
वाराणसी,16 फरवरी (हि.स.)। संत शिरोमणि गुरू रविदास जयंती पर बुधवार को उनकी जन्मस्थली सीर गोवर्धनपुर में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी हाजिरी लगाई। संत के दर पर पहुंच कर मुख्यमंत्री ने उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद मत्था टेका। अमृतवाणी पाठ के सामने शीश झुकाकर आशीर्वाद मांगा। इसके बाद मुख्यमंत्री ने रविदासिया धर्म प्रमुख संत निरंजन दास से मिल उनका आशीर्वाद भी लिया। मुख्यंमत्री ने दरबार में हाजिरी लगाने और संतों का आर्शिवाद लेने के बाद पंगत में बैठ कर लंगर भी छका।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने रविदास जयंती की बधाई देकर कहा कि उनकी सरकार गुरू रविदास मंदिर के विकास कार्य के लिए प्रतिबद्ध है। गुरू मंदिर में आने के पहले मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि “आज मैं वाराणसी के सीरगोवर्धनपुर में पूज्य संत शिरोमणि गुरु रविदास जी महाराज की जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित होऊंगा। प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में भाजपा की डबल इंजन की सरकार उनकी पावन जन्मस्थली के समग्र विकास के लिए पूरी तन्मयता से कार्य कर रही है”।
दूसरे ट्वीट में मुख्यमंत्री ने लिखा कि ‘यह हमारा सौभाग्य है कि पूज्य संत रविदास जी की जन्मस्थली सीरगोवर्धन यूपी की सांस्कृतिक नगरी काशी में है’। प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में सीरगोवर्धन के सुंदरीकरण और पर्यटन विकास के लिए राज्य सरकार समर्पित भाव के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने बताया कि लाखों जन आस्था की भूमि सीर गोवर्धन में आज कनेक्टिविटी बेहतर हुई है। इसके साथ ही संत शिरोमणि रविदास जी की स्मृति में पार्क निर्माणाधीन है।

इसके पहले मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर बीएचयू के हेलीपैड पर उतरा। जहां से मुख्यमंत्री कड़ी सुरक्षा के बीच वाहनों के काफिले में सीर गोवर्धनपुर पहुंचे। गुरू दरबार में मुख्यमंत्री का स्वागत रविदासिया धर्म प्रमुख गुरू निरंजनदास और अन्य संतों ने किया।