Sat. May 21st, 2022

मुंडका अग्निकांड: शवों की पहचान करना बड़ी चुनौती: डीसीपी


नई दिल्ली, 14 मई (हि.स.)। बाहरी दिल्ली के मुंडका अग्निकांड दर्दनाक हादसे पर डीसीपी समीर शर्मा ने बताया कि सभी शवों का डीएनए टेस्ट किया जाएगा, क्योंकि शवों की पहचान करना एक बड़ी चुनौती है। उन्होंने बताया कि इस मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है और आगे की जांच की जा रही है।

डीसीपी ने बताया अग्निकांड मामले में फैक्टरी के दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और अभी इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। वहीं जिन लोगों के शव की पहचान नहीं हो पा रही है उनका डीएनए किया जायेगा। इस हादसे में 27 लोगों की मौत और 12 लोग घायल है। घायलों का इलाज मंगोलपुरी में स्थित संजय गांधी अस्पताल में किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि जो लोग घायल हैं या जिनकी मौत हो गई है उनकी पूछताछ के लिए परिवार वाले अस्पताल नहीं पहुंच पाए हैं। उनके लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है और जो पहुंच रहे हैं उनके लिए एक काउंटर बनाया है, जिसमें एक फार्म भर कर घर के दो सदस्य जाकर शव की पहचान कर सकते हैं।

अभी तक छह लोगों के शव की पहचान हो चुकी है। जिनका नाम टानिया भूषण, मोहिनी पाल, यशोदा देवी, रंजू देवी, विशाल मिथिलेश और दृष्टि के रूप में हुई है। मुंडका अग्निकांड मामले में पुलिस की जांच और जांच लगातार जारी है और यह साफ किया गया है कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।