Wed. Sep 28th, 2022

मालदेवता में बादल फटा, कई घर बहे, दो लोग लापता


देहरादून, 20 अगस्त (हि.स.)। बादलों ने उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में जमकर कहर बरपाया है। देहरादून के मालदेवता में बादल फटने से भारी तबाही हुई है। कई घर बह गए हैं। दो लोग लापता बताए जा रहे हैं। भारी बरसात ने जीवन तहस-नहस कर दिया है। सौंग नदी उफान पर है। इस वजह से रायपुर से थानो रोड को जोड़ने वाला पुल टूट गया है। एसडीआरएफ की टीम राहत और बचाव कार्य में जुटी है। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने अपने सारे कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं। फिलहाल जनहानि की सूचना नहीं है।

देहरादून में शुक्रवार रात से तेज बारिश रही है। बादलों ने मालदेवता क्षेत्र के शेरकी गांव में तबाही मचाई है। इस दौरान बादल फटने से आए भारी मलबे में कई वाहन और सात घर बह गए। दो लोग लापता है। कुछ पशुओं के बहने की भी सूचना है। रायपुर विधायक उमेश शर्मा ने प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया है।

आपदा कंट्रोल रूम देहरादून को रात 02:45 बजे ग्राम सरखेत रायपुर में बादल फटने और कई लोगों की फंसे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद मूसलाधार बारिश के बीच एसडीआरएफ टीम वाहन से रवाना हुई। मालदेवता में मार्ग बाधित मिला। टीम बिना वक्त जाया किए पैदल आगे बढ़ी। एसडीआरएफ ने ग्राम सरखेत में फंसे सभी लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। यहां से चार-पांच किलोमीटर आगे कुछ लोग रिसॉर्ट में पनाह लिए हुए हैं। टीम उन्हें रेस्क्यू करने जा रही है।

मसूरी में कैम्प्टी फाल का झरना उफान पर है। पुलिस ने आसपास के दुकानदारों और पर्यटकों को यहां से हटा दिया है। फिलहाल झरने में प्रवेश बंद कर दिया है। डोईवाला में सौंग नदी उफान पर है। तटवर्ती केशवपुरी और राजीव नगर के लोगों को सौंग नदी के आसपास न जाने की चेतावनी दी गई है। कई लोगों को एसडीआरएफ और पुलिस द्वारा सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है।

मौसम विज्ञान विभाग के केन्द्र निदेशक विक्रम सिंह की चेतावनी के बाद नआपदा विभाग और और पुलिस प्रशासन को अलर्ट पर रखा गया है। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मालदेवता के लिए रवाना हो गए हैं। वह दिनभर प्रभावित क्षेत्र में रहेंगे।