Wed. Sep 28th, 2022

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का अंतिम संस्कार सोमवार को, दुनिया के 500 लोगों को किया गया आमंत्रित


-भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू भी होंगी शामिल , पहुंचीं लंदन

लंदन, 18 सितंबर (हि.स.)। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का अंतिम संस्कार सोमवार को लंदन में होगा। इस दौरान विश्व के कई नेता, रॉयल्टी और अन्य गणमान्य व्यक्ति शामिल होंगे। लंदन में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए दुनिया के करीब 500 लोगों को आमंत्रित किया गया है। भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू महारानी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए लंदन पहुंच चुकी है।

आमंत्रित सम्राटः जापान के सम्राट नारुहितो और महारानी मसाको, राजा विलेम-अलेक्जेंडर और नीदरलैंड की रानी मैक्सिमा, किंग फेलिप षष्ठम और स्पेन की रानी लेटिजिया, स्पेन के पूर्व राजा जुआन कार्लोस, बेल्जियम के राजा फिलिप और रानी मथिल्डे, डेनमार्क की रानी मार्गरेट द्वितीय, क्राउन प्रिंस फ्रेडरिक और क्राउन प्रिंसेस मैरी, किंग कार्ल सोलहवें गुस्ताफ और स्वीडन की रानी सिल्विया, राजा हेराल्ड वी और नॉर्वे की रानी सोनजा हैराल्डसन, भूटान के राजा जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक, ब्रुनेई के सुल्तान हसनल बोल्कियाह, जॉर्डन के राजा अब्दुल्लाह, कुवैत के क्राउन प्रिंस, शेख मेशल अल-अहमद अल-सबाही, लेसोथो के राजा लेत्सी तृतीय, लिकटेंस्टीन के वंशानुगत राजकुमार एलोइस, लक्जमबर्ग हेनरी के ग्रैंड ड्यूक, पहांगी के मलेशियाई सुल्तान अब्दुल्ला, मोनाको के राजकुमार अल्बर्ट द्वितीय, मोरक्को के क्राउन प्रिंस मौले हसन, ओमान के सुल्तान हैथम बिन तारिक अल-सैद, कतर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल-थानीक, टोंगा के राजा टुपो षष्ठम प्रमुख हैं।

आमंत्रित राष्ट्राध्यक्षः भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रथम महिला जिल बाइडन, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो, ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो, त्रिनिदाद और टोबैगो के राष्ट्रपति पाउला-मे वीक्स, बारबाडोस के राष्ट्रपति सैंड्रा मेसन, जमैका के प्रधानमंत्री एंड्रयू होल्नेस, बेलीज के गवर्नर जनरल फ्लोयला तजालम, सेंट विंसेंट और ग्रेनेडाइंस के गवर्नर जनरल सुसान डौगन, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक-वाल्टर स्टीनमीयर, इटली के राष्ट्रपति सर्जियो मटेरेला, आयरलैंड के राष्ट्रपति माइकल डी. हिगिंस, आयरलैंड के प्रधानमंत्री माइकल मार्टिन, पुर्तगाल के राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा, ऑस्ट्रिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वान डेर बेलेन, हंगरी के राष्ट्रपति कैटलिन नोवाक, पोलैंड के राष्ट्रपति आंद्रेजेज डूडा, लातविया के राष्ट्रपति एगिल्स लेविट्स, लिथुआनिया के राष्ट्रपति गीतानस नौसेदा, फिनलैंड के राष्ट्रपति सौली निनिस्टो, ग्रीस की राष्ट्रपति कतेरीना सकेलारोपोलू, माल्टा के राष्ट्रपति जॉर्ज वेला, साइप्रस के राष्ट्रपति निकोस अनास्तासीदेस, यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल, यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन, नाटो के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग, इजराइल के राष्ट्रपति इसहाक हर्जोग, फिलीस्तीनी प्रधानमंत्री मोहम्मद शतयेह, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा, नाइजीरिया के उपराष्ट्रपति येमी ओसिनबाजो, घाना के राष्ट्रपति नाना अकुफो-एडो, गैबॉन के राष्ट्रपति अली बोंगो, चीन के उपराष्ट्रपति वांग किशन, श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न, ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथोनी अल्बनीज और दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति यूं सुक-योल प्रमुख हैं।

महारानी के अंतिम संस्कार कार्यक्रम में ब्रिटेन ने रूस, म्यांमार, बेलारूस, सीरिया, वेनेजुएला और अफगानिस्तान को आमंत्रित नहीं किया है।