Thu. Feb 22nd, 2024

मप्रः प्रधानमंत्री मोदी ने किया एशिया के सबसे बड़े सीएनजी प्लांट का लोकार्पण


भोपाल, 19 फरवरी (हि.स.)। देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में देवगुराड़िया ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में स्थापित एशिया के सबसे बड़े जैविक अपशिष्ट से बायो सीएनजी का का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को वर्चुअल लोकार्पण किया। कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी दिल्ली से और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी अपने निवास से वर्चुअली शामिल हुए, जबकि मौके पर प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी समेत अन्य जनप्रतिनिधि और अधिकारी मौजूद रहे।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वेस्ट-टू-वेल्थ की अवधारणा को साकार करने तथा स्वच्छता के क्षेत्र में नवाचार के उद्देश्य से इंदौर नगर निगम द्वारा गीले कचरे के निपटान के लिए शहर के ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में 550 मीट्रिक टन प्रतिदिन क्षमता के बायो सीएनजी प्लांट स्थापित किया गया है। यह प्लांट संपूर्ण एशिया महाद्वीप में जैविक अपशिष्ट से बायो सीएनजी का सबसे बड़ा तथा देश का पहला प्लांट है।
यह बायो सीएनजी प्लांट पी.पी.पी. मॉडल पर आधारित है। इस प्लांट में प्रतिदिन 550 एमटी गीले कचरे (घरेलू जैविक कचरे) को उपचारित किया जाएगा, जिससे 17 हजार 500 किलोग्राम बायो सी.एन.जी. गैस तथा 100 टन उच्च गुणवत्ता की आर्गेनिक कम्पोस्ट का उत्पादन होगा। इस प्लांट से उत्पन्न होने वाली बायो सीएनजी में से 50 प्रतिशत गैस नगर निगम, इन्दौर को लोक परिवहन की संचालित बसों के उपयोग के लिए उपलब्ध होगी। शेष 50 प्रतिशत गैस विभिन्न उद्योग एवं वाणिज्यिक उपभोक्ताओं को विक्रय की जा सकेगी।
कार्यक्रम का सांसद शंकर लालवानी और जस संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ किया। प्रधानमंत्री मोदी कार्यक्रम में दिल्ली से वर्चुअली जुड़े। सांसद लालवानी ने उनका स्वागत किया। कार्यक्रम में नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री ओपीएस भदौरिया ने स्वागत भाषण दिया। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एशिया के इस सबसे बड़े बायो सी.एन.जी. प्लांट को मध्य प्रदेश में लगाने के लिए आभार माना और यह विश्वास दिलाया कि पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में केंद्र सरकार विशेषकर पीएम मोदी के वैश्विक प्रयासों में मध्य प्रदेश राज्य यहां के सभी जनों का पूरा सहयोग उन्हें मिलता रहेगा।केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी इस मौके पर मौजूद रहे।
कार्यक्रम में मंत्री सिलावट ने कहा कि इंदौर जब भी काम करता है अद्भुत करता है। इसका श्रेय इंदौर की जनता को जाता है। स्वच्छता की बात प्रधानमंत्री ने की थी, लेकिन इसे इंदौर की जनता के साथ हम सब मिलकर पूरा किया है। आने वाले सालों में फिर कोई अदभुत काम मिलकर करेंगे। कार्यक्रम में नेशनल इन्वेस्टमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर फंड (एनआईआईएफ) के प्रबंध निदेशक सुजॉय बोस ने ऑनलाइन उद्बोधन दिया। उन्होंने स्वच्छ भारत को लेकर इंदौर को लीडर बताया। इंदौर के वैल्यू बेस्ड प्रोजेक्ट्स को सराहा और सिस्टम तारीफ की। उन्होंने कहा कि 2000 कर्मचारी लगातार वेस्ट को कलेक्ट कर उस पर काम कर रहे हैं।
जारी..