Wed. Aug 10th, 2022

मन की बात: प्रधानमंत्री ने पदक जीतने के लिए पीवी सिंधु और नीरज चोपड़ा को सराहा


नई दिल्ली, 31 जुलाई (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिंगापुर ओपन और विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में देश के लिए पदक जीतने पर स्टार शटलर पीवी सिंधु और स्टार भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की सराहना की है।

‘मन की बात’ के नवीनतम एपिसोड के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, दोस्तों, कक्षा हो या खेल का मैदान, आज हमारे युवा हर क्षेत्र में, देश को गौरवान्वित कर रहे हैं। इस महीने पीवी सिंधु ने सिंगापुर ओपन में अपना पहला खिताब जीता। नीरज चोपड़ा ने भी अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन जारी रखा और विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में देश के लिए रजत पदक जीता।

जुलाई में पीवी सिंधु ने महिला एकल वर्ग के फाइनल में चीन की वांग झी को हराकर अपना पहला सिंगापुर ओपन खिताब जीता था। सिंधु ने फाइनल मुकाबले में वांग को 21-9, 11-21, 21-15 से हराया था। इसके कुछ ही दिनों बाद नीरज चोपड़ा ने विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप-2022 में रजत पदक जीतकर एक बार फिर देश को गौरवान्वित किया। उन्होंने अपने चौथे प्रयास में 88.13 मीटर दूर भाला फेंक कर रजत पदक जीता। ऐसा कर उन्होंने 19 साल बाद भारत को टूर्नामेंट में पदक दिलाया।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, आयरलैंड पैरा-बैडमिंटन इंटरनेशनल में भी हमारे खिलाड़ियों ने 11 पदक जीतकर देश का गौरव बढ़ाया है। भारतीय खिलाड़ियों ने रोम में आयोजित विश्व कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में भी अच्छा प्रदर्शन किया था। हमारे एथलीट सूरज ने ग्रीको रोमन इवेंट में चमत्कार किया है। उन्होंने 32 साल के लंबे अंतराल के बाद इस इवेंट में कुश्ती में गोल्ड मेडल जीता है। खिलाड़ियों के लिए यह पूरा महीना एक्शन से भरपूर रहा है।

चार देशों के पैरा-बैडमिंटन अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट का आयोजन इस वर्ष 11-17 जुलाई तक डबलिन, आयरलैंड में किया गया था। भारत ने इस आयोजन में 11 पदक जीते थे, जिसमें दो स्वर्ण, चार रजत और पांच कांस्य पदक शामिल थे। इसके अलावा रोम में आयोजित विश्व कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में, सूरज 32 वर्षों में भारत के पहले अंडर -17 ग्रीको-रोमन कुश्ती चैंपियन बने। इससे पहले पप्पू यादव ने 1990 में यह खिताब जीता था।

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में हिस्सा ले रहे भारतीय दल को भी शुभकामनाएं दीं।

भारत ने इन खेलों में अभी तक चार पदक जीते हैं। सभी पदक भारोत्तोलन में ही आए हैं। भारत के लिए संकेत सरगर (पुरुषों के 55 किग्रा फाइनल में रजत), गुरुराजा पुजारी (पुरुषों के 61 किग्रा फाइनल में कांस्य), मीराबाई चानू (महिलाओं के 49 किग्रा फाइनल में स्वर्ण) और बिंद्यारानी देवी (महिलाओं के 55 किग्रा फाइनल में रजत) पदक विजेता रहे हैं। भारत फिलहाल चार पदकों के साथ पदक तालिका में आठवें स्थान पर है।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि भारत 44वें शतरंज ओलंपियाड की मेजबानी कर रहा है। साथ में अक्टूबर में फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप की मेजबानी से देश की बेटियों का खेलों के प्रति उत्साह बढ़ेगा।

44वां शतरंज ओलंपियाड 28 जुलाई को चेन्नई में शुरू हुआ और 10 अगस्त तक चलेगा।