Mon. Jan 24th, 2022

भ्रष्टाचार पर योगी सरकार का वार : एंटी करप्शन ने प्रदेश में 300 कर्मियों को किया गिरफ्तार


लखनऊ, 01 जनवरी (हि.स.)। प्रदेश की कमान संभालने के बाद योगी सरकार ने अपराधी और भ्रष्टचारियों पर जीरो टॉलरेंस नीति अपनाई। सरकार की इस मंशा को भ्रष्टाचार निवारण संगठन (एंटी करप्शन) ने पूरा किया। प्रदेश की एंटी करप्शन टीम ने पिछले साढ़े चार सालों में विभिन्न सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों के खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई की हैं। विभाग से मिले आकड़ों के मुताबिक, बीते 20 मार्च 2017 से वर्ष दिसम्बर 2021 तक 300 सरकारी कर्मियों को रंगे हाथों रिश्वत लेते गिरफ्तार करने की कार्रवाई की है। इसमें 38 पुलिस कर्मी शामिल हैं।
एंटी करप्शन की कमान संभाल रहे पुलिस अधीक्षक राजीव मल्होत्रा के मुताबिक, प्रदेश में योगी सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार में लिप्त विभिन्न विभागों के 300 कर्मियों को रंगे हाथ पकड़ते हुए कार्रवाई की गई है। इनमें पुलिस विभाग में तैनात 38 पुलिस कर्मी भी शामिल हैं। सफल ट्रेपों की संख्या 300 के पार है। कार्रवाई के दौरान पकड़े गए कर्मियों से 47, 14, 700 लाख रूपये की धनराशि बरामद की गई है। बताया कि पुलिस कर्मियों के अलावा सबसे ज्यादा पकड़े गए भ्रष्ट कर्मियों में लेखपाल, राजस्व विभाग के कर्मी, शिक्षक, सिंचाई कर्मी, कानूनगो सहित कई विभागों के कर्मी शामिल हैं।
कोरोना काल में भी की गई कार्रवाई
एसपी ने यह भी बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना काल में भी प्रदेश पर में एंटी करप्शन की कार्रवाई चलती रही। हालांकि इस दौरान वर्ष 19-20 में कुल 95 सफल ट्रेप हुए। इनमें 17 पुलिस कर्मी जबकि 78 अन्य विभागों के कर्मचारी शामिल थे। वहीं, साल 20-21 में 27 कार्रवाई हुई इसमें दो पुलिस कर्मी और 25 अन्य विभागों के कर्मचारियों को पकड़ा गया। जबकि मार्च 2021 से 24 दिसम्बर 2021 तक 27 कार्रवाई की गई इनमें तीन पुलिस कर्मियों को पकड़ गया है जबकि 24 अन्य विभागों के कर्मचारी शामिल है। इस तरह से 2017 में योगी सरकार आने के बाद से 31 दिसम्बर 2021 तक 300 सरकारी विभागों में भ्रष्ट कर्मचारियों को एंटी करप्शन ने कार्रवाई कर पकड़ा है। यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।
जनमानस को आना चाहिए आगे
एसपी ने आगे कहा कि नीचले स्तर पर फैल सरकारी तंत्र में भ्रष्टाचार की रोकथाम लगाने व उन्हें बेनकाब करने के लिए एंटी करप्शन टीम कार्रवाई कर रही है। कहा कि ऐसे लोगों से निपटने के लिए आम जन को आगे आकर भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ना चाहिये। एंटी करप्शन की टीम भ्रष्टाचार की लड़ाई में उनका पूरा सहयोग करने के लिए तत्पर है।
कार्रवाईयों में लाई जाएगी और तेजी
एंटी करप्शन के एसपी ने बताया कि प्रदेश में भ्रष्ट कर्मचारियों की फेहरिस्त काफी बड़ी है। इनकी सूची व शिकायतें लगातार एंटी करप्शन को मिल रही है। एंटी करप्शन के मुख्यालय में आ रही शिकायतों पर टीमें लगा दी गई है। टीमों को तेजी से कार्रवाई पूरी कर भ्रष्टचार में लिप्त कर्मियों को बेनकाब करने के निर्देश दिए गए हैं। टीमों को यह भी हिदायत दी गई है कि शिकायतों का रजिस्टर तैयार करे और उन पर होने वाली कार्रवाईयों से अधीनस्त अधिकारियों को लगातार अवगत कराया जाये।