Wed. Jun 29th, 2022

भारतीय क्रिकेट बिरादरी ने गायक कृष्णकुमार कुन्नाथ के आकस्मिक निधन पर जताया शोक


नई दिल्ली, 1 जून (हि.स.)। भारतीय क्रिकेट बिरादरी ने गायक कृष्णकुमार कुन्नाथ, जिन्हें केके के नाम से जाना जाता है, के आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त किया है। केके का मंगलवार रात निधन हो गया।

पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने लोकप्रिय गायक के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए ट्विट किया, एक अद्भुत गायक केके के असामयिक निधन से दुखी हूं। वह अपने संगीत के माध्यम से जीवित रहेंगे। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। ओम शांति।

महान भारतीय स्पिनर अनिल कुंबले ने भी गायक के परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, केके के निधन से गहरा दुख हुआ। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना।

पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया, कोलकाता में प्रदर्शन के दौरान बीमार पड़ने के बाद केके के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। जीवन कितना नाजुक है। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना। ओम शांति।

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह ने भी केके के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया।

उन्होंने ट्वीट किया, जीवन बहुत अनिश्चित और नाजुक है! केके के निधन के बारे में दुखद खबर। भगवान उनके परिवार को इस नुकसान को सहन करने की शक्ति प्रदान करें। ओम शांति।

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और घरेलू क्रिकेट दिग्गज वसीम जाफर ने भी गायक के निधन पर दुख व्यक्त किया।

उन्होंने ट्वीट किया, हम रहे या ना रहे कल, याद आएंगे ये पल यह जानकर दिल दहल गया कि केके नहीं रहे। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना।”

बता दें कि मंगलवार रात 8.30 बजे तक गायक ने नजरूल मंच सभागार में प्रस्तुति दी। अचानक, वह बीमार पड़ गये और उन्हे कोलकाता के सीएमआरआई अस्पताल लाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

उनके असामयिक निधन की खबर ने उनके प्रशंसक और मनोरंजन उद्योग को सदमे में डाल दिया है।

23 अगस्त, 1968 को नई दिल्ली में सी एस मेनन और कुनाथ कनकवल्ली के घर जन्मे केके दिल्ली के माउंट सेंट मैरी स्कूल के पूर्व छात्र थे। अपने कॉलेज के बाद, केके ने कथित तौर पर होटल उद्योग में एक मार्केटिंग सहयोगी के रूप में कार्य किया, इसके बाद वह संगीत में अपना करियर बनाने के लिए मुंबई चले गए।

हालांकि जन्म से एक मलयाली, जिसने कभी संगीत में कोई औपचारिक प्रशिक्षण नहीं लिया था, केके कभी भी तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मराठी, बंगाली और गुजराती जैसी भाषाओं में गाने से नहीं हिचकिचाते थे। यह एक और कारण है कि गायक के प्रशंसक पूरे देश में पाए जा सकते हैं।

उन्हें फिल्म काइट्स के जिंदगी दो पल की, ओम शांति ओम फिल्म के आंखों में तेरी, फिल्म बचना ऐ हसीनों के खुदा जाने, फिल्म हम दिल दे चुके सनम के तड़प तड़प जैसे गानों के लिए जाना जाता है।