Wed. Sep 28th, 2022

बिहार में बेगूसराय गोलीकांड का मुख्य संदिग्ध गिरफ्तार, 2:30 बजे होगा मामले का खुलासा


बेगूसराय, 16 सितम्बर (हि.स.)। बिहार के बेगूसराय में एनएच पर 30 किलोमीटर तक रुक-रुक कर फायरिंग करते हुए 11 लोगों को गोली मारने के मामले में लगातार छापेमारी कर रही बिहार पुलिस के स्पेशल टीम बड़ी सफलता हाथ लगने का दावा कर रही है।

सूत्रों के अनुसार एसआईटी एवं एसटीएफ से मिले इनपुट के आधार पर देर रात जमुई जिले के झाझा रेलवे स्टेशन पुलिस ने मौर्य एक्सप्रेस से भाग रहे संदिग्ध मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की छानबीन में जुटी पूरी पुलिस टीम हिरासत में लिए गए बीहट निवासी केशव उर्फ नागा को बेगूसराय लाकर पूछताछ कर रही है।

बताया जा रहा है कि कल गुरुवार को संदिग्धों की गिरफ्तारी एवं घटना में उपयोग किया गया एक मोटरसाइकिल मिलने के बाद एसटीएफ को इनपुट मिला था कि घटना का एक मास्टरमाइंड 15028 गोरखपुर-हटिया मौर्य एक्सप्रेस से जा रहा है। इनपुट की पुष्टि होते ही एसटीएफ ने यह जानकारी जमुई जिला पुलिस एवं रेल पुलिस से शेयर किया तथा खुद भी पीछे पड़ गई।

इसके बाद पुलिस ने झाझा स्टेशन पर रात में ट्रेन के रुकते ही चारों ओर से घेराबंदी कर केशव उर्फ नागा को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि नागा संगठित अपराधी गिरोह में शामिल है तथा विभिन्न तरह के वारदात के साथ शराब के बड़े रैकेट में भी शामिल है। कुछ दिनों पूर्व बीहट में हुए पेट्रोल पंप लूट कांड में भी यह शामिल था एवं कुछ दिन पहले ही जेल से निकला है।

फिलहाल पुलिस घटना में शामिल चारों संदिग्ध केशव उर्फ नागा, युवराज, अर्जुन एवं सुमित से लगातार पूछताछ कर रही है। सबकी निगाहें शुक्रवार की दोपहर 2:30 बजे पुलिस अधीक्षक कार्यालय में होने वाले प्रेसवार्ता पर टिकी हुई है, जिसमें मामले का खुलासा किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार की शाम दो मोटरसाइकिल पर सवार बेखौफ अपराधियों ने एनएच-28 पर बछवाड़ा क्षेत्र से लेकर एनएच-31 के चकिया सहायक थाना क्षेत्र रुक-रुक कर लगातार गोलीबारी किया था। जिसमें 11 लोगों को गोली लगी, एक की मौत हो चुकी है, जबकि दस लोगों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। मामले को लेकर प्रशासनिक हलके में जहां हड़कंप मच गया, वहीं बिहार की राजनीतिक सरगर्मी उफान पर है तथा लगातार आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है।