Thu. Sep 29th, 2022

बिहार के बेगूसराय में हुई गोलीबारी के बाद छह जिलों की सीमा सील, पांच संदिग्ध हिरासत में


-पुलिस मुख्यालय ने भेजी चार स्पेशल टीम

-प्रशासनिक और पुलिस पदाधिकारी मुस्तैद

-संबंधित थानों के सात पुलिसकर्मी निलंबित

-गहमागहमी के बीच मृतक का अंतिम संस्कार

बेगूसराय, 14 सितम्बर (हि.स.)। बिहार के बेगूसराय में आतंकवादी गतिविधि की तरह मंगलवार की शाम हुई गोलीबारी के बाद बिहार पुलिस मुख्यालय ने बेगूसराय और पटना सहित छह जिलों में अलर्ट जारी किया है।बेगूसराय, पटना, समस्तीपुर, खगड़िया, नालंदा और लखीसराय जिले की सीमाओं पर नाकाबंदी की गई है। इन जिलों की पुलिस जगह-जगह छापेमारी कर रही है।

एडीजी मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि शूटर्स द्वारा अंधाधुंध फायरिंग के बाद बेगूसराय में बिहार स्पेशल ऑग्जीलरी पुलिस की तीन कंपनी एवं एक यूनिट एसटीएफ भेज दी गई है। जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन संयुक्त रूप से जिले भर में छापेमारी कर रही है।

एसपी योगेन्द्र कुमार ने बुधवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि घटना के बाद एसआईटी की चार विशेष टीम मामले की जांच कर रही हैं। एफएसएल की टीम भी जांच में जुटी है। 12 से अधिक सीसीटीवी फुटेज चेक किया गया है। दो बाइक पर सवार चार अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है। इस मामले में पांच संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

उन्होंने बताया कि गश्ती में लापरवाही के कारण फुलवड़िया थाना के पुअनि शशिभूषण सिंह, जीरोमाइल ओपी के मुकरू हेम्ब्रम, चकिया ओपी के विनोद प्रसाद, तेघड़ा थाना के कृष्ण कुमार, एफसीआई ओपी के रमेन्द्र कुमार यादव, बरौनी थाना के संजय कुमार एवं बछवाड़ा थाना के रामकिशोर सिंह को निलंबित कर पुलिस लाइन भेज दिया गया है।

डीएम रोशन कुशवाहा ने बताया कि सभी घायलों का प्राथमिकता के आधार पर इलाज कराया जा रहा है। गंभीर रूप से घायल भरत यादव को पीएमसीएच भेजा गया है। शेष आठ घायलों की स्थिति नियंत्रण में है। घायलों के हालत की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। प्रशासन द्वारा छापेमारी भी चल रही है। 22 जगहों पर अगले आदेश तक मजिस्ट्रेट के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल एवं पुलिस कर्मियों को तैनात किया है।

उन्होंने बताया कि सभी सीमाओं को सील कर गहन जांच चल रही है। पल-पल पर नजर रखी जा रही है। अगले आदेश तक प्रशासनिक सतर्कता, निगरानी एवं सुरक्षात्मक कार्रवाई के लिए जिला मुख्यालय एवं राष्ट्रीय उच्च पथ के विभिन्न संवेदनशील स्थानों पर दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिले के सभी अस्पताल एवं अग्निशमन केंद्र को अलर्ट मोड पर रखा गया है। सोशल मीडिया पर नजर रखी जा रही है।

उधर, गोलीकांड में मारे गए इंजीनियर चंदन कुमार का अंतिम संस्कार कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कर दिया गया है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह एवं स्थानीय विधायक राम रतन सिंह सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे। प्रशासनिक स्तर पर तत्काल 20 हजार का चेक परिजनों को उपलब्ध कराया गया है।