Wed. Feb 21st, 2024

बिहार की सभी लोकसभा सीटें जीतेगी भाजपा, खत्म होगा जंगलराज : अमित शाह


नवादा (बिहार), 2 अप्रैल (हि.स.)। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह रविवार को बिहार की धरती पर राज्य की महागठबंधन सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने सबसे पहले बिहार में हुई हिंसा पर नीतीश सरकार को घेरा और कहा कि यहां जंगलराज की वापसी हो गई है लेकिन 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा राज्य की सभी 40 लोकसभा सीटें जीतेगी। बिहार की जनता ने इसके लिए मन बना लिया है। इसी के साथ बिहार में जंगलराज का खात्मा हो जाएगा।

केंद्रीय गृहमंत्री रविवार को नवादा जिले के हिसुआ इंटर स्कूल के मैदान में विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बिहार आज बारूद के ढेर पर बैठा है। बिहारशरीफ और सासाराम जल रहा है। नीतीश कुमार से प्रशासन संभल नहीं रहा। इस कारण दंगे हो रहे हैं। जब तक महागठबंधन की सरकार को खत्म नहीं किया जाएगा तब तक बिहार विकास के रास्ते पर कदम पर नहीं बढ़ सकता।

उन्होंने कहा, मुझे सासाराम जाना था। वहां सम्राट अशोक की जयंती पर कार्यक्रम होना था लेकिन दुर्भाग्य है कि वहां लोग मारे जा रहे हैं। गोलियां चल रही हैं। इसलिए नहीं जा सका। मैं वहां की जनता से यहीं से क्षमा मांगता हूं। अगले दौरे में सासाराम में सभा जरूर करूंगा। मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि बिहार में जल्द ही शांति हो।

उन्होंने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव के बाद बिहार में महागठबंधन की सरकार गिर जाएगी और भाजपा की सरकार बनेगी। देश की जनता ने तय किया है कि मोदी को तीसरी बार भी प्रधानमंत्री बनाएंगे। हमारी सरकार बनने पर दंगा करने वालों को उल्टा लटकाकर सीधा करने का काम करेंगे। हम वोट बैंक की राजनीति नहीं करते। हमारी सरकार में दंगे नहीं होते हैं।

शाह ने गिनाई केंद्र सरकार की उपलब्धियां

अमित शाह ने नरेन्द्र मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि 2009 से 14 तक बिहार को केंद्र सरकार 50 हजार करोड़ दिया करती थी लेकिन नरेन्द्र मोदी की सरकार बनते ही 2014 से 19 तक बिहार को 01 लाख 09 हजार करोड़ कर दी गई। साथ ही कहा बिहार में 85 लाख किसानों को 6 हजार खाते में दिए जा रहे हैं। सवा चार लाख मैट्रिक टन अनाज गरीबों को बांटी जा रही है। बिहार के गरीबों के बीच एक करोड़ 10 लाख गैस सिलेंडर मुफ्त में बांटे गए। 85 लाख गरीबों को मुफ्त इलाज की व्यवस्था कराई गई है।

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि दो लाख डेयरी प्रोजेक्ट बिहार की सभी पंचायतों में खोलने की योजना है, ताकि रोजगार मुहैया कराई जा सके। वारसलीगंज तथा रजौली में परमाणविक संयंत्र के सहारे बिजली का उत्पादन किया जाएगा। नरेन्द्र मोदी की सरकार ने क्यूल गया रेलखंड का दोहरीकरण, वारसलीगंज रेलवे ट्रैक पर ओवरब्रिज का निर्माण, नवादा से पावापुरी रेलखंड को जोड़ने का काम के साथ बख्तियारपुर से रजौली तक फोर लेन का निर्माण सहित कई उपयोगी कार्य कराएं हैं, जो दूसरी सरकार में संभव नहीं हो पाया था।

नीतीश-ललन बाबू के लिए दरवाजे बंद

अमित शाह ने कहा कि मैं बिहार की जनता और ललन बाबू को स्पष्ट कहना चाहता हूं कि चुनाव परिणामों के बाद भी नीतीश कुमार के लिए भाजपा के दरवाजे हमेशा के लिए बंद रहेंगे। उन्होंने कहा कि मैंने राज्यपाल को फोन किया तो ललन सिंह बुरा मान गए। वे कहते हैं कि बिहार में क्यों हस्तक्षेप कर रहे हैं। नीतीश कुमार की सत्ता की भूख ने लालू की गोद में बैठने पर मजबूर कर दिया। हमारी कोई मजबूरी नहीं है। हम जनता के बीच जाएंगे। लोगों को बताएंगे। महागठबंधन की सरकार को जड़ से उखाड़ फेंकेंगे।
जनसभा को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, नित्यानंद राय, पूर्व मंत्री राधामोहन सिंह, पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, भाजपा के प्रांतीय अध्यक्ष सम्राट चौधरी, विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता विजय कुमार सिंह, पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल और मंगल पांडे ने भी संबोधित किया।