Wed. Jun 29th, 2022

बारामूला और पुलवामा की अलग-अलग मुठभेड़ों में चार आतंकी ढेर


– पुलवामा मुठभेड़ में मारा गया जैश आतंकी एसआई फारूक मीर की हत्या में था शामिल

बारामूला, 21 जून (हि.स.)। कश्मीर घाटी में आतंकरोधी अभियानों में तेजी लाते हुए मंगलवार को सुरक्षाबलों ने बारामूला तथा पुलवामा में हुई मुठभेड़ों में चार आतंकियों को मार गिराया है। दोनों स्थानों पर अन्य आतंकियों की आशंका के चलते तलाशी अभियान जारी है। मारे गए आतंकियों के शवों के साथ सुरक्षाबलों ने हथियार तथा गोला बारूद बरामद किया है।

बारामूला जिले के सोपोर के अंतर्गत तुलीबल इलाके में आतंकियों की मौजूदगी के बाद पुलिस, सेना तथा सीआरपीएफ की टीम ने पूरे इलाके की घेराबंदी करके तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान क्षेत्र में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों को पास आते देखकर गोलीबारी की जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने आतंकियों को समर्पण करने के कई मौके दिए लेकिन आतंकियों ने इसके जवाब में गोलीबारी तेज कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में दो आतंकी मारे गए।

इसी तरह पुलवामा जिले के तुज्जन इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम ने तलाशी अभियान चलाया। तलाशी अभियान के दौरान शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को दो आतंकियों को मार गिराने में सफलता मिली। यहां मारे गए दो आतंकियों में से एक की पहचान जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी माजिद नजीर के रूप में हुई है। यह आतंकी पांपोर में एसआई फारूक मीर की हत्या में शामिल था।

आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने इस बारे में पुष्टि करते हुए बताया कि पुलवामा मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों में से एक की पहचान सब इंस्पेक्टर फारूक मीर की हत्या में शामिल जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी माजिद नजीर के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि बारामूला जिले के सोपोर के तुलीबल इलाके में और पुलवामा जिले के तुज्जन इलाके में दो-दो आतंकी मारे गए हैं। मारे गए तीन अन्य आतंकियों की पहचान की जा रही है। दोनों स्थानों पर सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान चला रखा है।